लाइव टीवी

पूर्वी दिल्ली में काम आई शाहीन बाग प्रदर्शन के विरोध की रणनीति, 7 सीटों पर BJP की जीत

Suhas Munshi | News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 9:29 PM IST
पूर्वी दिल्ली में काम आई शाहीन बाग प्रदर्शन के विरोध की रणनीति, 7 सीटों पर BJP की जीत
पूर्वी दिल्ली में कोंडली (आरक्षित सीट) की नुक्कड़ सभा में, अमित शाह ने अपने भाषण में अधिक समय सीएए विरोध प्रदर्शनों और हाल ही में प्रधानमंत्री द्वारा गठित किए गए राम मंदिर ट्रस्ट की घोषणा को दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कड़कड़डूमा में अपनी रैली में वादा किया था कि दिल्ली के विकास को गति देने के लिए केवल भाजपा ही पर्याप्त है. उन्होंने अनाधिकृत कॉलोनियों के नियमितीकरण का मुद्दा भी उठाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 9:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 8 फरवरी को विधानसभा चुनावों (Assemblu Elections) के लिए दिल्ली (Delhi) में मतदान होने से पहले सामने आए ओपिनियन पोल्स में भाजपा को पूर्वी दिल्ली में जीत मिलने की भविष्यवाणी हुई थी. इस क्षेत्र में है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi), गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah), उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath), हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) सहित भाजपा (BJP) भारी मतदाताओं को लुभाने के लिए मैदान में उतरे थे.

मतगणना के दिन जैसे-जैसे रुझान बढ़ता गया, नतीजे बीजेपी की पक्ष में जाते दिखने लगे और लगा कि जैसे बीजेपी की स्टार प्रचारकों को उतारने और ध्रुवीकरण की रणनीति काम कर रही है. बीजेपी ने क्षेत्र की 16 विधानसभा सीटों में से सात में आप को कड़ी टक्कर दी. बाकी की नौ सीटों पर आप ने बढ़त बनाई.

पूर्वी दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में बड़ी संख्या में उत्तराखंड, पूर्वांचल के लोग रहते हैं वहीं इस सीट के कुछ इलाके मुस्लिम बहुल हैं.

चर्चा का केंद्र रहा शाहीन बाग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़कड़डूमा में अपनी रैली में वादा किया था कि दिल्ली के विकास को गति देने के लिए केवल भाजपा ही पर्याप्त है. उन्होंने अनाधिकृत कॉलोनियों के नियमितीकरण का मुद्दा भी उठाया, जो शुरू में चुनाव प्रचार में सबसे बड़े चुनावी मुद्दों में से एक था. बाद में नागरिकता कानून को लेकर शाहीन बाग में चल रहा प्रदर्शन चर्चा के केंद्र में आ गया और बड़ा चुनावी मुद्दा बनकर उभरा.

पूर्वी दिल्ली में कोंडली (आरक्षित सीट) की नुक्कड़ सभा में, अमित शाह ने अपने भाषण में अधिक समय सीएए विरोध प्रदर्शनों और हाल ही में प्रधानमंत्री द्वारा गठित किए गए राम मंदिर ट्रस्ट की घोषणा को दिया. उन्होंने अपने भाषण का अंत भी उसी ध्रुवीकरण वाली लाइन पर किया जिसका जिक्र उन्होंने चार दिन पहले बाबरपुर में किया था- "कमल के निशान पर बटन जरूर दबाना, मगर इतने गुस्से से दबाना कि बटन कोंडली में दबे और करंट..."

इन पर जनता ने कहा- "शाहीन बाग में लगे"ये भी पढ़ें-
BJP ने उठाया अवैध कॉलोनियों को वैध करने का मुद्दा, लेकिन चुनाव जीत गई AAP

ये हैं वो 10 गारंटी जिनके कारण तीसरी बार दिल्ली के CM बनेंगे अरविंद केजरीवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 9:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर