लाइव टीवी

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा को ‘Z’ कैटेगरी की सुरक्षा

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 5:40 PM IST
भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा को ‘Z’ कैटेगरी की सुरक्षा
जे पी नड्डा को दी गई ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा

गृह मंत्रालय (Home Ministry) के एक अधिकारी ने बताया कि अखिल भारतीय आधार पर नड्डा (Nadda) को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा (Z Category Security) प्रदान की जा रही है. उनके ऊपर बढ़ते खतरों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 5:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भाजपा (BJP) के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा को ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा (Z Category Security) प्रदान की गई है. इसके तहत केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के कमांडों हर समय उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे. अधिकारियों ने इस बात की जानकारी गुरुवार को दी. खुफिया ब्यूरो देश के वीवीआईपी (VVIP) और अन्य क्षेत्रों के लोगों की सुरक्षा को देखते हुए यह सुविधा उपलब्ध कराता है.

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने नड्डा के ऊपर बढ़ते खतरों को देखते हुए यह निर्णय लिया और जेड कैटेगरी की सुविधा दी है. नड्डा ने करीब चार माह पहले सत्तारूढ़ दल के कार्यकारी अध्यक्ष का पद संभाला है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि अखिल भारतीय आधार पर नड्डा को इस श्रेणी सुरक्षा प्रदान की जा रही है.

कितने कैटेगरी की होती है यह सुरक्षा
भारत में 4 तरह की सुरक्षा कैटेगरी है जिसमें X, Y, Z और Z प्लस सुरक्षा कैटेगरी होती है और इसमें Z प्लस कैटेगरी सबसे बड़ी कैटेगरी होती है.

35 कमांडो नड्डा की सुरक्षा में
सीआरपीएफ के कुल 35 कमांडो नड्डा की सुरक्षा में बारी के आधार पर हर समय तैनात रहेंगे. इनमें से आठ से नौ कमांडो उन्हें नजदीकी सुरक्षा प्रदान करेंगे. इस निर्णय के बाद नड्डा देश भर में कहीं भी जाएं उन्हें जेड श्रेणी सुरक्षा दी जाएगी. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि नजदीकी सुरक्षा के अतिरिक्त सीआरपीएफ के जवान नड्डा के आवास की सुरक्षा में भी तैनात रहेंगे.

क्या होती है Z कैटेगरी की सुरक्षा
Loading...

Z कैटेगरी की सुरक्षा में चार से पांच एनएसजी कमांडो सहित कुल 22 सुरक्षागार्ड तैनात होते हैं. इसमें दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो व स्थानीय पुलिसकर्मी भी शामिल होते हैं. सुरक्षा में एक एस्कॉर्ट कार भी शामिल होती है. कमांडो मशीनगन और आधुनिक संचार के साधनों से लैस रहते हैं. इसके अलावा इन्हें मार्शल ऑर्ट से प्रशिक्षित किया जाता है. इनके पास बगैर हथियार के लड़ने का भी अनुभव होता है

ये भी पढ़ें : सरकार 150 ट्रेनों, 50 रेलवे स्टेशनों के निजीकरण हेतु बनाएगी अधिकारप्राप्त समूह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 5:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...