भाजपा ने कर्नाटक से राज्यसभा उपचुनाव के लिए कारोबारी के नारायण को उतारा

कर्नाटक में एक दिसंबर राज्यसभा का उपचुनाव होगा (सांकेतिक तस्वीर)
कर्नाटक में एक दिसंबर राज्यसभा का उपचुनाव होगा (सांकेतिक तस्वीर)

Karnataka Rajyasabha Bypolls: उपचुनाव के लिए एक दिसंबर को मतदान खत्म होने के तुरंत बाद मतगणना होगी. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 18 नवंबर है.

  • Share this:
बेंगलुरु. भाजपा (BJP) ने कर्नाटक (Karnataka) से राज्यसभा (Rajyasabha) की एक सीट पर होने वाले उपचुनाव (Bypolls) के लिए पार्टी से जुड़े और आरएसएस (RSS) की पृष्ठभूमि वाले कारोबारी के नारायण (Narayan) को अपना उम्मीदवार बनाने की मंगलवार को घोषणा की. अशोक गस्ती (Ashok Gasti) के निधन के कारण राज्यसभा की यह सीट रिक्त हो गयी और एक दिसंबर को उपचुनाव होगा. मेंगलुरु (Mangaluru) के रहने वाले नारायण देवांगा समुदाय के हैं और उनका पत्रिका के प्रकाशन और मुद्रण का कारोबार है.

आम लोगों के बीच संस्कृत को लोकप्रिय बनाने के मकसद से नारायण ने मासिक पत्रिका ‘सम्भाषण संदेश’ का प्रकाशन शुरू किया था. इस पत्रिका का सितंबर 1994 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के सरसंचालक प्रोफेसर राजेंद्र सिम्हाजी ने विमोचन किया था. उसके बाद से नारायण पिछले 25 साल से संस्कृत पत्रिका का प्रकाशन कर रहे हैं . वह पत्रिका ‘तुलुवेरे कडिगे’ के संपादक भी है. वह स्पान प्रिंट के मालिक हैं और कर्नाटक भाजपा के (बुनकर प्रकोष्ठ) ‘नेकारा प्रकोष्ठ ’ के सहसंयोजक और हिंदू सेवा प्रतिष्ठान के कार्यकारी निदेशक भी रह चुके हैं.

ये भी पढ़ें- BRICS समिट में मोदी का PAK पर निशाना, कहा-आतंक के मददगार देश भी माने जाएं दोषी



नारायण के बायोडाटा के मुताबिक, वह शिक्षा, संस्कृति और धर्म के क्षेत्र में समाज सेवा से जुड़े रहे हैं.
मतदान खत्म होने के तुरंत बाद होगी मतगणना
उपचुनाव के लिए एक दिसंबर को मतदान खत्म होने के तुरंत बाद मतगणना होगी. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 18 नवंबर है.

राज्यसभा के लिए जून में निर्वाचित हुए गस्ती (55) का कोविड-19 संक्रमण के चलते कई अंगों के निष्क्रिय होने के बाद निधन हो गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज