महाराष्‍ट्र: रविशंकर प्रसाद ने कहा- राज्‍य में BJP को जनादेश मिला, फिर भी चल रही थी मैच फिक्सिंग

महाराष्‍ट्र: रविशंकर प्रसाद ने कहा- राज्‍य में BJP को जनादेश मिला, फिर भी चल रही थी मैच फिक्सिंग
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि फडणवीस की छवि एक ईमानदार मुख्यमंत्री की है.

महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में बीजेपी के सरकार गठन के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा कि राज्‍य में बीजेपी और शिवसेना (BjP Shiv sena) को स्‍पष्‍ट जनादेश मिला था. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2019, 5:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में बीजेपी और एनसीपी (BJP-NCP) ने मिलकर सरकार बना ली है. देवेंद्र फडणवीस (Chief Minister Devendra Fadnavis) ने शनिवार सुबह सीएम पद और अजित पवार (Ajit Pawar) ने डिप्‍टी सीएम पद की शपथ ली. हालांकि महाराष्‍ट्र का सियासी पारा अभी भी चढ़ा हुआ है. इस बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने प्रेस कॉफ्रेंस में कहा कि इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना को बहुमत मिला था. सबसे बड़ी पार्टी बनकर बीजेपी उभरी थी. साथ ही सीएम के लिए राज्य की जनता ने देवेंद्र फडणवीस को चुना था.

फडणवीस ईमानदार मुख्‍यमंत्री: रविशंकर प्रसाद
रविशंकर प्रसाद ने कहा, 'फडणवीस की छवि एक ईमानदार मुख्यमंत्री की है. पूरे राज्य ने फडणवीस को सीएम के लिए वोट दिया. शिवसेना के उम्मीदवार भी बीजेपी के वोट पर ही जीते. यह बीजेपी की नैतिक और चुनावी जीत थी.' उन्‍होंने कहा कि चुनाव के बाद शिवसेना किसके इशारे पर उत्तेजित हो गई और इतने पुराने गठबंधन को तोड़ दिया. जनादेश तो बीजेपी और शिवसेना के गठबंधन को मिला था.

बीजेपी राज्‍य को स्‍थायी सरकार देगी
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि शिवसेना ने चोर दरवाजे से देश की वित्तीय राजधानी पर कब्जा करने की कोशिश की. कुर्सी के लिए मैच फिक्सिंग का खेल चल रहा था. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन संबंधी सवाल पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज जो गठबंधन हुआ है, तो राज्‍य में स्‍थायी सरकार देगा. शिवसेना ने स्वार्थ के लिए हमसे दोस्ती तोड़ ली.



हम महाराष्‍ट्र में साबित करेंगे बहुमत- प्रसाद
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाला गठबंधन महाराष्ट्र में बहुमत साबित करेगा. अजित पवरा के साथ एनसीपी का बड़ा तबका साथ है. एक समय हमारे साथ रहे दल के नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ जिस तरह के भाषा का इस्तेमाल किया, उससे दुख पहुंचा. हम राज्य की जनता के जनादेश के हिसाब से आगे बढ़ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: CM बनने के बाद देवेंद्र फडणवीस का भव्‍य स्‍वागत, बोले- 'मोदी है तो मुमकिन है'

ये भी पढ़ें: अजित पवार ने शरद पवार से क्यों की बगावत, कहीं यह वजह तो नहीं?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज