BJP ने अपने राज्यसभा सांसदों के लिए जारी किया थ्री-लाइन व्हिप, आज सदन में सभी को रहना होगा मौजूद

बीजेपी ने मंगलवार को अपने सभी सांसदों को सदन में पेश होने के लिए कहा है.
बीजेपी ने मंगलवार को अपने सभी सांसदों को सदन में पेश होने के लिए कहा है.

BJP issued three-line whip to its Rajya Sabha MPs: सरकार मानसून सत्र में पहले से लंबित बिल और अध्यादेशों को पास कराना चाहती है ऐसे में बीजेपी ने अपने राज्यसभा सांसदों के लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 12:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) ने राज्यसभा सांसदों (Rajyasabha MP) के लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है. बीजेपी ने अपने सांसदों से कहा है कि वह मंगलवार को सदन में मौजूद रहें और सरकार के कदम का समर्थन करें. प्राप्त जानकारी के मुताबिक सरकार उच्च सदन में कृषि संबंधी (Farm Bill) तीसरा विधेयक पेश कर सकती है. यह विधेयक पहले सोमवार को ही पेश किया जाना था लेकिन विपक्षी सांसदों के निलंबन के बाद से ही संसद में हंगामा जारी रहा जिसके चलते सदन को कार्यवाही के बीच में चार बार स्थगित करना पड़ा. इसके बावजूद भी जब शांति कायम नहीं हो सकी तो सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई.

इसके अलावा सरकार मानसून सत्र (Monsoon Session) में पहले से लंबित बिल और अध्यादेशों को पास कराना चाहती है. इससे पहले रविवार को सदन में कृषि से संबंधित दो विधेयक पास किए गए हैं जिन्हें लेकर सदन में खूब हंगामा हुआ. इस कार्यवाही के दौरान विपक्ष के सांसदों द्वारा किए गए हंगामे के चलते उन्हें शेष सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया. निलंबित किए गए सदस्यों में तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन और डोला सेन, कांगेस के राजीव सातव, सैयद नजीर हुसैन और रिपुन बोरा, आप के संजय सिंह, माकपा के केके रागेश और इलामारम करीम शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- अगर मार्शल नहीं बचाते तो उपसभापति हरिवंश पर होता हमला: रविशंकर प्रसाद



रविवार को हंगामे के बीच पास हुए हैं दो बिल
राज्यसभा में रविवार को दो महत्वपूर्ण किसान बिलों को सरकार ने भारी हंगामे के बीच पास करवा लिया. इस दौरान तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी समेत कई विपक्षी दलों ने बेल में आ कर हंगामा किया. कुछ सांसदों ने डिप्टी स्पीकर की चेयर के सामने पहुंच कर बिल की प्रतियांं फाड़ दीं और डिप्टी स्पीकर के माइक को भी पकड़ का उसे उखाड़ने की कोशिश की.

सोमवार को सभापति वैंकेया नायडू के सदस्यों को निलंबित करने के बाद सदस्यों के सदन से बाहर नहीं जाने और सदन में हंगामा जारी रहने के कारण सदन की कार्यवाही बार-बार बाधित हुई तथा चार बार के स्थगन के बाद अंतत: पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गयी.

ये भी पढ़ें- केंद्र ने रबी फसलों के लिए घोषित किया नया MSP, जानें किस पर बढ़ाए कितने रुपये

नायडू ने सांसदों के आचरण को बताया दुखद
नायडू ने रविवार को सदन में हुए हंगामे का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ विपक्षी सदस्यों का आचरण दुखद, अस्वीकार्य और निंदनीय है. नायडू ने कहा कि सदस्यों ने कोविड-19 संबंधी सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया. उन्होंने कहा कि सदस्यों ने उपसभापति हरिवंश के साथ अमर्यादित आचरण किया.

नायडू ने इस दौरान तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन के ‘नाम का उल्लेख’’ करते हुए उन्हें सदन से बाहर जाने को कहा. हालांकि, ब्रायन सदन में ही रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज