महिला NCP नेता को लातों से मारने वाले BJP MLA को पार्टी ने भेजा कारण बताओ नोटिस

बलराम थवानी गुजरात की नरोदा विधानसभा सीट से विधायक हैं.

News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 5:33 PM IST
महिला NCP नेता को लातों से मारने वाले BJP MLA को पार्टी ने भेजा कारण बताओ नोटिस
बलराम थवानी गुजरात की नरोदा विधानसभा सीट से विधायक हैं.
News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 5:33 PM IST
गुजरात में महिला एनसीपी नेता को लातों से मारने वाले भाजपा विधायक बलराम थवानी को पार्टी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है. थावाणी ने नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी की नेता नीतू तेजवानी को लात से मारने को लेकर हुए विवाद पर सफाई दी थी.

बीजेपी विधायक बलराम थावाणी ने एनसीपी महिला नेता को थप्पड़ मारते हुए कैमरे में कैद होने के बाद कहा कि वह मेरी बहन की तरह है, कल जो कुछ भी हुआ उसके लिए मैंने माफी मांग ली है. हमने अपने बीच की गलतफ़हमी को दूर कर लिया है. मैंने उससे वादा किया है कि उसकी किसी भी तरह की परेशानी में मैं उसकी मदद करूंगा. साथ ही उन्होंने महिला नेता से राखी भी बंधवाई थी.

वहीं इस पर नरोदा की एनसीपी नेता नीतू तेजवानी का कहना है कि 'उन्होंने बोला तुझे बहन मान के चला हूं, और बहन की तरह मैंने तुझे थप्पड़ मारा था और मेरा कोई भी गलत विचार नहीं था. मैंने उनको भाईसाहब मान लिया है, समाधान सबने मिलकर किया है.'

क्या था मामला

बता दें बीजेपी विधायक थावाणी का एनसीपी की नेता को लातों से मारने का वीडियो वायरल हो गया था. यह घटना तब हुई जब नीतू, बलराम के दफ्तर एक स्थानीय मुद्दे को लेकर गई थीं. नीतू ने बलराम के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था. बलराम, गुजरात की नरोदा विधानसभा सीट से विधायक हैं.

नीतू ने इस पूरे घटनाक्रम पर कहा कि 'मैं बीजेपी विधायक बलराम थवानी से एक स्थानीय मुद्दे पर मिलने गई थी लेकिन मुझे सुनने से पहले ही उन्होंने थप्पड़ मर दिया. मैं जब नीचे गिरी तभी वह मुझे लात मारने लगे. उनके लोगों ने मेरे पति को भी मारा. मैं मोदी जी से पूछना चाहती हूं कि कैसे महिलाएं उनके राज में सुरक्षित हैं.'

घटना पर बीजेपी विधायक ने कहा कि 'मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूं. यह जानबूझ कर नहीं हुआ. मैं बीते 22 साल से राजनीति में हूं ऐसा कभी नहीं हुआ. मैं उनसे माफी मांगता हूं.' विधायक ने कहा कि मैं महिला से मिलने के लिए अस्पताल जाऊंगा.
Loading...

यह भी पढ़ें: दलित की बारात पर किया था पथराव, 43 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज़



यह भी पढ़ें:  लाखों की नौकरी छोड़ गुजरात के भाई-बहनों ने खोला गौशाला

माफी मांगने से पहले बलराम ने कहा था

मिली जानकारी के अनुसार कुछ महिलाएं पानी की कमी को लेकर बलराम के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन कर रहीं थीं. उनकी मांग थी कि पानी की समस्या का हल किया जाए. बलराम का दावा है कि 'जब महिलाएं प्रदर्शन कर रहीं थीं उस वक्त वे दफ्तर में नहीं था. कुछ ही देर में वह दफ्तर पहुंचा और लोगों से बात की. मैंने लोगों से कहा कि वह सोमवार को आएं और हम इस पर निगम के अधिकारियों से बात करेंगे. इसी दौरान मुझ पर हमला हुआ. यह सब प्री प्लान था.'

महिलाओं का कहना है कि नरोदा में पानी की कमी है जिसके समाधान के लिए वह बलराम के पास पहुंचीं थीं.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

First published: June 3, 2019, 4:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...