कपिल मिश्रा ने दर्ज कराई पुलिस में शिकायत- मेरे खिलाफ नफरत फैलाने का अभियान चलाया जा रहा

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (फाइल फोटो)
बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (फाइल फोटो)

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि मेरे खिलाफ नफरत फैलाने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 8:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने गुरुवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसमें कहा कि उनके खिलाफ कथित तौर पर नफरत फैलाने (Hate Campaign) के लिए अभियान चलाया जा रहा है. मिश्रा के विरोधियों का आरोप है कि उन्होंने सांप्रदायिक हिंसा से पहले भड़काऊ भाषण दिया था.

मिश्रा ने ट्वीट किया, 'आज मैंने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. यह शिकायत मेरे खिलाफ नफरत फैलाने के लिए चलाए जा रहे अभियान, मीडिया में झूठी खबरें फैलाने वाले लोगों, असली दंगाइयों और आतंकवादियों को बचाने वालों और मेरी तथा मेरे परिवार की सुरक्षा पर खतरा पैदा करने वालों के खिलाफ है.'

पुलिस ने की पुष्टि



पुलिस ने पुष्टि की कि मिश्रा ने शिकायत दर्ज कराई है, लेकिन यह नहीं बताया कि शिकायत की प्रकृति क्या है. दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त जनसंपर्क अधिकारी अनिल मित्तल ने बताया कि कपिल मिश्रा ने दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ को गुरुवार को शिकायत दी है. पुलिस इसकी जांच कर रही है.
कपिल मिश्रा से पूछताछ

हाल ही में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 28 जुलाई को फरवरी में भड़के उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के दंगों से जुड़ाव के मामले में पूछताछ की थी. उनसे पूछताछ के दौरान, मिश्रा ने अपने मौजपुर के दौरे के दौरान कोई भाषण देने की बात से इंकार दिया. कड़कड़डूमा अदालत में पिछले हफ्ते दाखिल की गई चार्जशीट में दिल्ली पुलिस की ओर से यह टिप्पणी दर्ज की गई है.



चार्जशीट में उन सवालों का जिक्र किया गया है, जो उनके मौजपुर दौरे और 23 फरवरी के उनके एक भाषण के वायरल वीडियो के बारे में उनसे पूछे गये थे. कथित वीडियो में, मिश्रा को एक सीएए समर्थकों के समूह को मौजपुर ट्रैफिक सिग्नल के पास संबोधित करते देखा जा सकता है, जबकि उनके पास ही उत्तर-पूर्वी डीसीपी वेद प्रकाश सूर्या खड़े हैं.

"कोई भाषण नहीं दिया, सिर्फ पुलिस से 3 दिनों के अंदर रोड खाली कराने के लिए कहा"

चार्जशीट के मुताबिक मिश्रा ने कहा कि उन्होंने कोई भाषण नहीं दिया था और वे सिर्फ पुलिस से तीन दिनों के अंदर रोड को खाली कराने के लिए कह रहे थे. उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने इलाके में जाने से पहले डीसीपी नॉर्थ-ईस्ट वेद प्रकाश सूर्या को बुलाया था. तब डीसीपी उनके साथ दंगा रोकने वाली पोशाक में आए थे, हालांकि जब तक वे वहां पहुंचे तब तक कई इलाकों में दंगे पहले ही शुरू हो चुके थे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज