अपना शहर चुनें

States

पेट्रोल हुआ 90 रुपये के पार तो सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने अपनी ही सरकार पर साधा निशाना, कहा- 40 रुपये होनी चाहिए कीमत

सुब्रमण्‍यम स्‍वामी से सरकार पर साधा निशाना. (File Pic)
सुब्रमण्‍यम स्‍वामी से सरकार पर साधा निशाना. (File Pic)

बीजेपी नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी (Subramaniam Swamy) ने पेट्रोल के दाम को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पेट्रोल के दाम 90 रुपये प्रति लीटर पहुंचना भारत सरकार की ओर से देशवासियों का आश्‍चर्यजनक शोषण है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2020, 10:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में पेट्रोल और डीजल (Petrol Diesel Price) के दाम एक बार फिर आसमान छूने लगे हैं. कई शहरों में पेट्रोल 90 रुपये प्रति लीटर (Petrol Price) के हिसाब से बिक रहा है. ऐसे में लोगों को परेशानी हो रही है. इसके साथ ही अब बीजेपी को अपने ही नेताओं का विरोध झेलना पड़ रहा है. इस बीच बीजेपी नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी (Subramaniam Swamy) ने भी पेट्रोल के बढ़ते दाम को लेकर सरकार पर निशाना साधा है.

सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने पेट्रोल के दाम को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया. इसमें उन्‍होंने लिखा, 'पेट्रोल के दाम 90 रुपये प्रति लीटर पहुंचना भारत सरकार की ओर से देशवासियों का आश्‍चर्यजनक शोषण है. रिफाइनरी में पेट्रोल के दाम 30 रुपये प्रति लीटर होते हैं. इसके बाद सभी तरह के टैक्‍स और पेट्रोल पंप कमीशन मिलाकर इसमें 60 रुपये तक की बढ़ोतरी होती है. मेरी नजर में पेट्रोल को अधिकतम 40 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बेचा जाना चाहिए.'






बता दें कि दिल्‍ली में मंगलवार को पेट्रोल के दाम 83.71 रुपये और डीज़ल 73.87 रुपये प्रति लीटर हैं. वहीं मुंबई में पेट्रोल के दाम 90.34 रुपये और डीज़ल 80.51 रुपये प्रति लीटर हैं. कोलकाता में पेट्रोल 85.19 रुपये और डीज़ल 77.44 रुपये प्रति लीटर हैं. चेन्नई में पेट्रोल 86.51 रुपये और डीज़ल के दाम 79.21 रुपये प्रति लीटर हैं.

वहीं रविवार को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने अनुमान जताया था कि पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (OPEC) के कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने के हाल के फैसले के बाद ईंधनों के दामों (Fuel Prices) में स्थिरता आएगी. प्रधान ने कहा था, ''ओपेक ने दो दिन पहले ही फैसला किया है कि वह कच्चे तेल का पांच लाख बैरल उत्पादन हर रोज बढ़ाएगा. इसका हमें फायदा मिलेगा और हमारा अनुमान है कि (ईंधनों के) दाम स्थिर होंगे. जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ते हैं, तो यहां (भारत में) भी (ईंधनों के) दाम बढ़ते हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज