JDS का आरोप, स्पीकर ऑफिस के पास हंगामा करने के लिए विधायक को भड़का रहे थे BJP नेता

जनता दल सेक्युलर के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो जारी किया गया है.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:23 PM IST
JDS का आरोप, स्पीकर ऑफिस के पास हंगामा करने के लिए विधायक को भड़का रहे थे BJP नेता
जनता दल सेक्युलर के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो जारी किया गया है. (बीजेपी नेता आर अशोक की फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:23 PM IST
कर्नाटक में राजनीतिक संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के बागी विधायक सही प्रारूप में इस्तीफा देने और विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार से मिलने के लिए मुंबई से बेंगलुरु पहुंचे.

कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर रमेश कुमार ने कहा है कि उनसे मुलाकात करने वाले विधायकों ने सही फॉर्मेट में अपने इस्तीफे दे दिए हैं. वह इस बात की जांच करेंगे कि  ये 'इस्तीफे स्वैच्छिक हैं और प्रामाणिक हैं या नहीं.'



इन सब के बीच जनता दल सेक्युलर के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो जारी किया गया है. जिसमें दावा किया गया है कि राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम और भारतीय जनता पार्टी के नेता आर. अशोका, अपने दल के विधायक को भड़का रहे हैं ताकि वे स्पीकार के दफ्तर के बाहर हंगामा करें जब बागी विधायक उनसे मिलने आएं.'

JDS के ट्वीट में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा गया है कि क्या - 'आर अशोका को इन चीजों के निर्देश, अमित शाह से मिले हैं जो हिंसा और शोर-गुल मचाने के लिए जाने जाते हैं.'




अब तक कांग्रेस के 11, जेडीएस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दिया

कर्नाटक में अब तक कांग्रेस के 11, जेडीएस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दिया है. इसके साथ ही 2 निर्दलीय विधायकों ने भी इस्तीफा देकर सरकार से समर्थन वापस ले लिया है. इनमें उमेश कामतल्ली, बीसी पाटिल, रमेश जारकिहोली, शिवाराम हेब्बर, एच विश्वनाथ, गोपालैया, बी बस्वराज, नारायण गौड़ा, मुनिरत्ना, एसटी सोमाशेखरा, प्रताप गौड़ा पाटिल, मुनिरत्ना और आनंद सिंह शामिल हैं. वहीं, कांग्रेस के निलंबित विधायक रोशन बेग ने भी मंगलवार को इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल होने की बात कही.

कर्नाटक में कुल 224 विधानसभा सीटें हैं, बहुमत का आंकड़ा 113 है. इसमें बीजेपी के 105 विधायक हैं. जबकि कांग्रेस के पास 80 और जेडीएस के पास 37 विधायक हैं. इस तरह से दोनों के पास कुल 117 विधायक हैं. बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) और निर्दलीय विधायक भी गठबंधन का समर्थन कर रहे हैं. लेकिन, 13 विधायकों के इस्तीफे से गठबंधन सरकार के पास 104 विधायक रह जाते हैं. हालांकि, अभी तक विधानसभा अध्यक्ष ने 13 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है.

यह भी पढ़ें:  जो हुआ-जो होगा, दोनों का जिम्मेदार मैं नहीं- कर्नाटक स्पीक<
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...