येदियुरप्पा को CM पद से हटाने की कोशिश में RSS का करीबी बीजेपी गुट: सिद्धारमैया

येदियुरप्पा को CM पद से हटाने की कोशिश में RSS का करीबी बीजेपी गुट: सिद्धारमैया
कर्नाटक के कांग्रेसी नेता सिद्धारमैया ने विवादास्पद दावा किया है.

कर्नाटक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष (Leader Of Opposition) और पूर्व मुख्यमंत्री (Former CM) सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने कहा है कि संघ का एक नजदीकी बीजेपी गुट बी.एस. येदियुरप्पा को हटाना चाहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 9:48 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक में नेता विपक्ष सिद्धरमैया (Siddaramaiah) ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आरएसएस (RSS) का करीबी, बीजेपी का एक गुट मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा (B. S. Yediyurappa) को अपदस्थ करना चाहता है. इसके लिए ये गुट पिछले सप्ताह बेंगलुरु में हुई हिंसा का लाभ उठाने की कोशिश कर रहा है.

राजनीतिक लाभ के वास्ते मुस्लिम मतों को बांटने के लिए एसडीपीआई का इस्तेमाल
पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेता राजनीतिक लाभ के वास्ते मुस्लिम मतों को बांटने के लिए एसडीपीआई का इस्तेमाल औजार के रूप में कर रहे हैं. उन्होंने राज्य सरकार और इसके मंत्रियों पर आरोप लगाया कि वे हिंसा के मुद्दे पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं तथा असल दोषियों की पहचान करने की जगह कांग्रेस को निशाना बनाने में अधिक रुचि दिखा रहे हैं.





बीजेपी स्पष्ट रूप से दो गुटों में विभाजित 
सिद्धरमैया ने ट्वीट किया कि कर्नाटक में बीजेपी स्पष्ट रूप से दो गुटों में विभाजित है. एक गुट आरएसएस का करीबी है जो बी.एस. येदियुरप्पा को अपदस्थ करने के लिए बेंगलुरु में हुई हिंसा का लाभ उठाने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा, ‘जांच खुफिया विभाग की विफलता से शुरू होनी चाहिए.’

सुर्खियों में आ गई है SDPI 
गौरतलब है कि SDPI का नाम बेंगलुरु हिंसा में सामने आया है. 11 अगस्त की रात को बेंगलुरु में भीड़ (Bengaluru Violence) की हिंसा में जांच आगे बढ़ने के साथ, SDPI सुर्खियों में आ गई है. कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई (Karnataka home minister Basavaraj Bommai) ने गुरुवार को मीडिया को बताया था, 'अब तक की जानकारी और वीडियो फुटेज के अनुसार, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एसडीपीआई की भूमिका प्रकाश में आ रही है. हम इसके बारे में पूरी जानकारी एकत्र कर रहे हैं; हम इस संबंध में गहनता से जांच कर रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading