Home /News /nation /

दलित बीजेपी सांसद को लोगों ने गांव में घुसने से रोका, बताया ‘अछूत’

दलित बीजेपी सांसद को लोगों ने गांव में घुसने से रोका, बताया ‘अछूत’

ए नाराणस्वामी चित्रदुर्ग से बीजेपी के सांसद हैं

ए नाराणस्वामी चित्रदुर्ग से बीजेपी के सांसद हैं

स्थानीय लोगों ने ए नाराणस्वामी (A. NarayanaSwamy) से कहा कि इस गांव (Village) में अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के लोग प्रवेश नहीं करते हैं, उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    चित्रदुर्ग. कर्नाटक (Karnataka) के चित्रदुर्ग से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. यहां एक बीजेपी सांसद (BJP MP) को उनके ही निर्वाचन क्षेत्र के गांव में प्रवेश करने से रोक दिया गया, क्योंकि वह दलित समुदाय (Dalit Community) से आते हैं. यह घटना सोमवार को उस वक्त हुई जब बीजेपी सांसद ए नाराणस्वामी (A. NarayanaSwamy) तुमाकुरु जिले के पावागड़ा तालुक में दौरा करने गए थे. सांसद नाराणस्वामी ने कहा कि मुझे गहरा दुख हुआ है कि दलित होने के नाते मुझे प्रवेश नहीं करने दिया गया. पुलिस इस मामले में जांच कर रही है.

    ए नाराणस्वामी (A. NarayanaSwamy) चित्रदुर्ग से बीजेपी के सांसद हैं. वह सोमवार को एक फार्मा कंपनी के डॉक्टरों और अधिकारियों के साथ अपने निर्वाचन क्षेत्र के एक गांव में गए थे. बताया जा रहा है कि नाराणस्वामी को उस समय गोल्ला समुदाय के लोगों ने रोक दिया, जब वे गोलरहट्टी में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे. इस जगह सिर्फ गोल्ला समुदाय के ही लोग रहते हैं. इस दौरान उन्हें ‘अछूत’ भी कहा गया.

    इस गांव में दलित या निम्न जाति के लोगों के प्रवेश पर रोक
    गौलतलब है कि गोलहहट्टी में दलित या निम्न जाति के लोगों को प्रवेश की अनुमति नहीं है. गोल्ला समुदाय के लोग पिछड़ा वर्ग से आते हैं, जबकि नारायणस्मावी दलित समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. स्थानीय लोगों ने नारायणस्वामी से कहा कि इस गांव में अनुसूचित जाति के लोग प्रवेश नहीं करते हैं, उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं है. इसके बाद नाराणस्वामी अपनी कार में बैठकर चले गए.



    बीजेपी ने सांसद ने जताया दुख
    चित्रदुर्ग लोकसभा की आरक्षित श्रेणी के लोगों की सीट है, जो अनुसूचित जाति से आते हैं. इस घटना पर दुख जताते हुए बीजेपी सांसद नारायणस्वामी ने कहा, ‘मुझे गहरा दुख पहुंचा कि दलित होने के नाते मुझे गोलरहट्टी में प्रवेश नहीं करने दिया गया. मैं उनकी समस्याओं को सुनने और अन्य बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के लिए गया था. क्योंकि वहां लोग कई वर्षों से झोपड़ियों में गुजर बसर कर रहे हैं.’

    पुलिस जांच में जुटी
    पुलिस ने मामले के संज्ञान में आते ही जांच के आदेश दिए हैं. पुलिस अधीक्षक (SP) ने कहा कि अभी इस मामले में स्पष्ट नहीं हो पाया कि सांसद को गांव में प्रवेश करने से रोका किसने था. उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

    Tags: BJP, Dalit, Karnataka

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर