पाकिस्तान की जेलों में बंद हैं 270 भारतीय मछुआरे, लोकसभा में उठा रिहाई का मुद्दा

पाकिस्तान की जेलों में बंद हैं 270 भारतीय मछुआरे, लोकसभा में उठा रिहाई का मुद्दा
सांसद ने कहा मछुआरों के परिवारों को उनके कुशलक्षेम की जानकारी भी नहीं मिल पाती है, इससे परिवार के लोग काफी परेशान रहते हैं.

Loksabha Zero Hour: दमन दीव (Daman Diu) के सांसद लालूभाई बाबूभाई पटेल (Lalubhai Babubhai Patek) ने लोकसभा में कहा कि पाकिस्तान की जेलों (Pakistani Jails) में काफी संख्या में भारतीय मछुआरे कैद हैं.

  • भाषा
  • Last Updated: September 16, 2020, 8:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लोकसभा (Loksabha) में भाजपा (BJP) के एक सदस्य ने पाकिस्तान की जेलों (Pakistani Jails) में कैद भारतीय मछुआरों (Indian Fisherman) के मुद्दे को उठाया और सरकार ने इनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाने की मांग की. शून्यकाल (Zero Hour) के दौरान निचले सदन (Loksabha) में इस मुद्दे को उठाते हुए दमन दीव (Daman Diu) के सांसद लालूभाई बाबूभाई पटेल (Lalubhai Babubhai Patek) ने कहा कि पाकिस्तान की जेलों (Pakistani Jails) में काफी संख्या में भारतीय मछुआरे कैद हैं और उनकी काफी नौकाएं भी जब्त कर ली गई हैं. उन्होंने कहा कि इन मछुआरों के परिवारों को उनके कुशलक्षेम की जानकारी भी नहीं मिल पाती है, इससे परिवार के लोग काफी परेशान रहते हैं.

भाजपा सांसद (BJP MP) ने कहा कि इस विषय पर पाकिस्तान के साथ बात करके कोई रास्ता निकाला जाना चाहिए. शून्यकाल के दौरान बीजू जनता दल (Biju Janta Dal) के भतृहरि माहताब (Brathari Mahtab) ने कहा कि ओडिशा में भारी मात्रा में लौह अयस्क, क्रोमाइट, लिग्नाइट, बॉक्साइट पाया जाता है लेकिन पिछले कुछ समय से उसे वाजिब रॉयल्टी नहीं मिल रही है. उन्होंने कहा कि रॉयल्टी की पिछली बार समीक्षा सितंबर 2014 में की गई थी. जबकि इसकी समीक्षा तीन साल में होनी चाहिए. ऐसा नहीं होने के कारण ओडिशा (Odisha) प्रभावित हो रहा है. ऐसे में जल्द रॉयल्टी से जुड़े मुद्दे की समीक्षा की जाए.

ये भी पढ़ें- भारत और चीन के बीच महज 20 दिनों के भीतर LAC पर 3 बार हुई दोनों ओर से फायरिंग




वाईएसआरसीपी सांसद ने पिछली सरकार पर लगाए हेराफेरी के आरोप
वाईएसआरसीपी पार्टी (YSRCP) के मिथुन रेड्डी ने आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में पूर्ववर्ती सरकार के दौरान राज्य के बंटवारे के बाद नयी राजधानी की घोषणा के समय जमीन की हेराफेरी किये जाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि नयी राजधानी की घोषणा से पहले बड़ी मात्रा में काफी सस्ती दर पर जमीन खरीदी गई. यह एक बड़ा घोटाला है. रेड्डी ने कहा कि चूंकि उनकी पार्टी की अभी राज्य में सरकार है, ऐसे में वह चाहते हैं कि इस मामले की सीबीआई से जांच हो.

शून्यकाल के दौरान जदयू के सुनील कुमार पिंटो ने बिहार के सीतामढ़ी (Sitamarhi) स्थित रीगा चीनी मिल पर किसानों की बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित करने की मांग की. उन्होंने कहा कि रीगा चीनी मिल पर किसानों का करीब 100 करोड़ रूपया बकाया है, किसान परेशान हैं. ऐसे में किसानों की बकाया राशि का भुगतान सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाये जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading