अपना शहर चुनें

States

BJP सांसद साध्‍वी प्रज्ञा के फिर बिगड़े बोल, अब ममता बनर्जी के लिए कहा अपशब्द

साध्‍वी प्रज्ञा ने साधा ममता बनर्जी पर निशाना. (File pic)
साध्‍वी प्रज्ञा ने साधा ममता बनर्जी पर निशाना. (File pic)

बीजेपी सांसद साध्‍वी प्रज्ञा (Sadhvi Pragya) ने कहा, 'ममता बनर्जी तिलमिलाई हुई हैं. उन्हें ये बातें समझ आ गई हैं कि ये पाकिस्‍तान नहीं, भारत है. साथ ही भारत की रक्षा के लिए हिंदू तैयार हैं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2020, 7:54 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (West Bengal elections) से पहले ही बीजेपी (BJP) और सत्‍तारूढ़ टीएमसी (TMC) के बीच गतिरोध देखने को मिलने लगा है. हाल ही में बीजेपी ने टीएमसी पर पश्चिम बंगाल में पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले के आरोप लगाए हैं. इन सबके बीच अब पार्टी नेताओं में जुबानी जंग भी तेज हो गई है. भोपाल से बीजेपी सांसद साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर कई आरोप लगाते हुए हमला बोला है. हालांकि इस दौरान उनके बोल कुछ बिगड़े से रहे. उन्‍होंने ममता बनर्जी के लिए अपशब्‍द का इस्‍तेमाल किया.

बीजेपी सांसद साध्‍वी प्रज्ञा ने कहा, 'ममता बनर्जी तिलमिलाई हुई हैं. उन्हें ये बातें समझ आ गई हैं कि ये पाकिस्‍तान नहीं, भारत है. साथ ही भारत की रक्षा के लिए हिंदू तैयार हैं. पश्चिम बंगाल में बीजेपी और हिंदू का शासन आएगा. पश्चिम बंगाल अखंड भारत का हिस्सा है. ममता उसे अलग करने का प्रयास कर रही थीं. देशभक्त ये कभी नहीं होने देंगे. बंगाल हिंदू राज्य बनेगा.' हालांकि इस दौरान साध्‍वी प्रज्ञा ने ममता बनर्जी को पागल त‍क कह दिया.

साध्‍वी प्रज्ञा ने किसान आंदोलन पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने साफतौर पर कहा, 'किसान आंदोलन में देश विरोधी लोग शामिल हैं. आंदोलन में किसानों के भेष में वामपंथी और कांग्रेसी हैं. किसानों के भेष में दूसरे लोग आकर वहां भ्रम फैला रहे हैं. लोगों को यह बात समझने की जरूरत है.'

बीजेपी सांसद ने कांग्रेस नेता और मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने उनका नाम लिए बिना कहा, 'जो देश को अपमानित करते हैं, भगवा को आतंकवादी तक कहते हैं, वे क्षत्रिय नहीं होते. जब वे भगवा का अपमान करते हैं तो मतलब वे हिंदुत्व का अपमान करते हैं. ऐसा बोलने वाले को राजा नहीं कहना चाहिए.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज