Home /News /nation /

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने नकारा आर्म्स डीलर के हनीट्रैप का आरोप

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने नकारा आर्म्स डीलर के हनीट्रैप का आरोप

वरुण गांधी ने कहा कि मैंने अभिषेक वर्मा को किसी आर्म्स डीलर से नहीं मिलवाया. मुझ पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, मैं उन्हें पूरी तरह खारिज करता हूं. उन्होंने कहा वे कभी संसद के डिफेंस कमेटी के सदस्य रहे हैं, लेकिन किसी भी संवेदनशील जानकारी तक पहुंच नहीं रही थी.

वरुण गांधी ने कहा कि मैंने अभिषेक वर्मा को किसी आर्म्स डीलर से नहीं मिलवाया. मुझ पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, मैं उन्हें पूरी तरह खारिज करता हूं. उन्होंने कहा वे कभी संसद के डिफेंस कमेटी के सदस्य रहे हैं, लेकिन किसी भी संवेदनशील जानकारी तक पहुंच नहीं रही थी.

वरुण गांधी ने कहा कि मैंने अभिषेक वर्मा को किसी आर्म्स डीलर से नहीं मिलवाया. मुझ पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, मैं उन्हें पूरी तरह खारिज करता हूं. उन्होंने कहा वे कभी संसद के डिफेंस कमेटी के सदस्य रहे हैं, लेकिन किसी भी संवेदनशील जानकारी तक पहुंच नहीं रही थी.

अधिक पढ़ें ...
  • Pradesh18
  • Last Updated :
    यूपी के सुल्तानपुर से भाजपा सांसद वरुण गांधी ने आर्म्स डीलर की ओर से हनी ट्रैप होने या ब्लैकमेल किए जाने से इनकार किया है. आर्म्स डीलर अभिषेक वर्मा के खिलाफ जांच में व्हिसिल ब्लोअर रहे अमेरिकी नागरिक सी एडमंड्स एलन ने एक दावा कर सनसनी फैला दी थी. एलन ने प्रधानमंत्री कार्यालय को एक पत्र लिखकर बताया कि वर्मा ने वरुण गांधी को फंसाने के लिए हनीट्रैप का इस्तेमाल किया.

    'इकोनॉमिक टाइम्स' में छपी खबर के मुताबिक 16 सितंबर को पीएमओ को भेजे गए एलन के पत्र में आरोप लगाया गया है कि वरुण गांधी को वर्मा ब्लैकमेल कर रहे हैं. अपनी बात के लिए सबूत के तौर पर एलन ने पीएमओ को दर्जनों फोटोग्राफ और सीडी भी भेजी है. पीएमओ ने इस विषय पर फिलहाल कुछ नहीं कहा है.

    एलन ने कहा- पीएम मोदी हैं 'मैन ऑफ एक्शन'

    एलन इस मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी 'मैन ऑफ एक्शन' हैं. इसलिए उनको पत्र लिखा है. इस बारे में वरुण गांधी ने साफ कहा कि आरोप हास्यास्पद हैं. इसलिए वे इस पर कोई जवाब नहीं देंगे.

    इस आरोप पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि खुफिया किस्म के दस्तावेज या जानकारी को आमतौर पर संसदीय कमिटी के सदस्यों से साझा नहीं किया जाता है. वैसे भी वरुण गांधी अब संसद की डिफेंस कंसलटेटिव कमिटी के सदस्य नहीं हैं.

    अभिषेक वर्मा को जानते हैं वरुण गांधी

    वरुण गांधी ने कहा कि मैं अभिषेक वर्मा को जानता हूं. उनके अभिभावकों में से कोई कांग्रेस से राज्यसभा सांसद थे. मैं अभिषेक की शादी में भी शामिल हुआ था. लेकिन सार्वजनिक जीवन में आने के बाद से वर्मा से मेरी कोई बातचीत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि एडमंड एलन ने जो आरोप लगाए हैं, उसे लेकर सबूत साझा नहीं किए हैं.

    वरुण गांधी ने कहा कि मैंने अभिषेक वर्मा को किसी आर्म्स डीलर से नहीं मिलवाया. मुझ पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, मैं उन्हें पूरी तरह खारिज करता हूं. उन्होंने कहा वे कभी संसद के डिफेंस कमेटी के सदस्य रहे हैं, लेकिन किसी भी संवेदनशील जानकारी तक पहुंच नहीं रही थी.

    कौन है सी एडमंड्स एलन

    एलन कभी अभिषेक वर्मा के एजेंट हुए करते थे. साल 2012 में उन्होंने भारतीय अधिकारियों के साथ ऐसे सैकड़ों दस्तावेज शेयर किए, जिसकी वजह से आर्म्स डीलर अभिषेक के खिलाफ कई मामले दर्ज हो पाए. रक्षा मंत्रालय से जुड़े गोपनीय दस्तावेज लीक होने का मामला भी इनमें शामिल है.

    एलन की ओर से इस पत्र की एक कॉपी रक्षा मंत्री और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को भी भेजी गई है. एलन ने कहा कि ऐसा करने का मकसद यह पता लगाने कि कहीं डिफेंस कंसलटेटिव कमिटी का कोई और सदस्य या उनका स्टाफ अभिषेक वर्मा की ओर से ब्लैकमेल तो नहीं किया जा रहा था.

    Tags: BJP, Blackmail, Varun Gandhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर