लाइव टीवी
Elec-widget

लोकसभा: प्रदूषण पर चर्चा के बीच BJP सांसद की चिंता- फिल्मों में हवा और घटा पर गाने कैसे बनेंगे

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 8:14 PM IST
लोकसभा: प्रदूषण पर चर्चा के बीच BJP सांसद की चिंता- फिल्मों में हवा और घटा पर गाने कैसे बनेंगे
प्रदूषण पर चर्चा के दौरान लोकसभा में बीजेपी सांसद सुनीता दुग्‍गल ने प्रदूषण के कारण मौसम पर बनने वालों पर चिंता तो राज्‍यमंत्री बाबुल सुप्रियो ने सदन को समाधान का भरोसा दिलाया.

संसद (Parliament) के निचले सदन में प्रदूषण पर चर्चा के दौरान बीजेपी (BJP) की सुनीता दुग्‍गल (Sunita Duggal) ने कहा, ऐसे खराब मौसम में 'जब चली ठंडी हवा, जब उठी काली घटा' जैसे फिल्‍मी गाने कैसे बन पाएंगे. इस पर वन व पर्यावरण राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने सदन को भरोसा दिलाया, सरकार इस समस्या के समाधान के लिए कदम उठा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 8:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लोकसभा (Lok Sabha) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) पर चर्चा के दौरान एक सदस्य ने अजब ही चिंता जाहिर की. उनकी सबसे बड़ी चिंता यही थी इस खराब मौसम में हवा और घटा पर फिल्मी गाने (Songs) कैसे बन पाएंगे? इस पर गायक और वन व पर्यावरण राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने सदन को आश्वासन दिया कि सरकार प्रदूषण से निपटने के उपायों पर काम कर रही है. उन्‍होंने कहा कि सरकार की ओर से इस समस्या के समाधान के लिए जो उपाय किए जा रहे हैं, उसमें 'हवा के संग-संग, घटा के साथ-साथ' सभी चल पाएंगे.

संसद के निचले सदन में नियम-193 के तहत प्रदूषण-जलवायु परिवर्तन पर हुई चर्चा
संसद (Parliament) के निचले सदन में वायु प्रदूषण व जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर नियम-193 के तहत चर्चा में हिस्सा लेते हुए बीजेपी (BJP) की सुनीता दुग्गल (Sunita Duggal) ने कहा कि यहां बाबुल सुप्रीयो, हेमामालिनी (Hema Malini), रवि किशन (Ravi Kishan) हैं. पुराने समय से हम 'जब चली ठंडी हवा, जब उठी काली घटा', 'हवा हवा ए हवा खूशबू लुटा दें' जैसे गाने सुनते आ रहे हैं, लेकिन प्रदूषण के दौर में फिर कैसे इस तरह के गाने बनेंगे?'

दूसरे देशों में एक पेड़ काटने से पहले 50 लगाने होते हैं, यहां सरकार ही काट रही

चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए वन व पर्यावरण राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि हम प्रदूषण की समस्‍या को गंभीरता के साथ ले रहे हैं. इसे हल करने की कोशिश की जा रही है. हमें उम्मीद है कि 'हवा के साथ-साथ, घटा के संग-संग' सभी साथी चलेंगे. वहीं, पंजाब के संगरूर से आप सांसद भगवंत सिंह मान (Bhagwant Singh Mann) ने कहा कि एमएसपी (MSP) आपने धान पर दे रखी है. अगर आप किसी दूसरी फसल पर किसानों को फायदा देने लगेंगे तो पराली की समस्‍या ही खत्‍म हो जाएगी. साथ ही उन्‍होंने कहा कि अमेरिका और कनाडा में अगर आपको एक पेड़ काटना है तो पहले 50 पेड़ लगाने पड़ते हैं. लेकिन, यहां सरकार खुद ही पेड़ काट रही है.

साफ हवा और स्‍वच्‍छ जल को मौलिक अधिकारों में जोड़े जाने की उठी मांग
कांग्रेस (Congress) सांसद और नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कहा कि यह उचित नहीं है कि हम एकदूसरे पर आरोप लगाएं. प्रयास हर कोई कर रहा है. अगर हम अलग-अलग सोचेंगे तो इसमें सदियां लग जाएंगी. हमें समाधान की तरफ जाना चाहिए. इस दिशा में काम करने वाले सभी केंद्रीय मंत्री, प्रदेशों के मुख्‍यमंत्री, उपमुख्‍यमंत्री एक साथ बैठकर इसका समाधान निकालने के लिए चर्चा करें. इसमें तय किया जाए कि केंद्र सरकार और राज्‍य सरकारों का काम व जिम्‍मेदारी बांट दी जाए. बिहार से बीजेपी सांसद आरके सिन्हा (RK Sinha) ने कहा कि हम हवा के बिना नहीं रह सकते. यह सिर्फ दिल्ली की समस्या नहीं है. यूपी-बिहार समेत हर जगह यह समस्या है. उन्‍होंने साफ हवा और स्वच्छ जल को मौलिक अधिकारों में जोड़ने की मांग की.
Loading...

ये भी पढ़ें:

कांग्रेस ने कहा-मनी लॉन्ड्रिंग घोटाला है इलेक्‍टोरल बांड, RBI की अनदेखी की गई

CAB की चर्चा के बीच 'बाहरी' लोगों को रोकने की तैयारी में पूर्वोत्‍तर के राज्‍य

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 7:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com