Home /News /nation /

BJP सांसदों की मांग- बंगाल का हो विभाजन, पार्टी ने बयान से झाड़ा पल्ला, कांग्रेस बोली- यह बड़ी साजिश का हिस्सा

BJP सांसदों की मांग- बंगाल का हो विभाजन, पार्टी ने बयान से झाड़ा पल्ला, कांग्रेस बोली- यह बड़ी साजिश का हिस्सा

 (पीटीआई फाइल फोटो)

(पीटीआई फाइल फोटो)

लीपुरद्वार से बीजेपी सांसद जॉन बरला, सांसद जयंत रॉय और कूचबिहार से सांसद निशित प्रमाणिक ने उत्तर बंगाल के विधायकों के साथ मिलकर एक समितिन बनाई है.

    कोलकाता. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के 3 सांसदों ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के विभाजन की आवाज बुलंद की है. तीनों सांसदों ने एक समिति बनाकर प्रस्ताव पारित किया है कि उत्तर बंगाल (North Bengal) को अलग राज्य का दर्जा दे दिया गया. अलीपुरद्वार से बीजेपी सांसद जॉन बरला, सांसद जयंत रॉय और कूचबिहार से सांसद निशित प्रमाणिक ने उत्तर बंगाल के विधायकों के साथ मिलकर एक समितिन बनाई और राज्य का प्रस्ताव पारित किया. इस प्रस्ताव के बाद अलिपुरद्वार में बीजेपी की पूरी इकाई जिलाध्यक्ष गंगा प्रसाद शर्मा के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गई. बीते महीने संपन्न हुए बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने अलीपुरद्वा से सभी पांच सीटों पर जीत दर्ज की थी.

    वहीं दूसरी ओर बीजेपी की राज्य इकाई ने अपने सांसदों के रुख से पल्ला झाड़ लिया है. भाजपा नेतृत्व ने अपने नेताओं को पार्टी लाइन के किसी भी तरह के उल्लंघन को लेकर चेताया. अपने सांसदों के बयान को लेकर हो रही आलोचना के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा,'हमारे कुछ नेताओं ने अपनी व्यक्तिकत क्षमता में कुछ बयान दिए हैं. इसका पार्टी लाइन या राय से कोई लेना देना नहीं है जो किसी भी रूप में बंगाल के विभाजन के खिलाफ है. एक वफादार सिपाही की तरह सभी को पार्टी लाइन का पालन करना चाहिए. पार्टी के आधिकारिक रुख का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.'



    बंगाल के विभाजन की मांग भाजपा की बड़ी साजिश का हिस्सा:अधीर
    घोष के बयान के कुछ ही घंटों के अंदर सौमित्र खान ने कहा कि उन्होंने बयान अपनी व्यक्तिगत क्षमता में दिया था. उधर कांग्रेस की पश्चिम बंगाल इकाई ने मंगलवार को भाजपा पर राज्य के विभाजन की साजिश रचने का आरोप लगाया और दावा किया कि यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की बड़ी योजना का हिस्सा है.

    बंगाल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया, ' यह सभी को पता है कि भाजपा के इस तरह के हर कदम के पीछे आरएसएस है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आरएसएस से प्रभावित हैं और आरएसएस की मुस्लिम बहुल प्रांतों को काटकर अलग राज्यों में मिलाने की पुरानी योजना है.' उन्होंने बिना अधिक ब्यौरा दिए कहा, ' उनकी यही योजना उत्तर प्रदेश के लिए है और यही योजना पश्चिम बंगाल के लिए है.'

    Tags: BJP, Congress, TMC, West bengal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर