बीजेपी ने सचिन पायलट के लिए खोले दरवाजे, कहा- देश को प्राथमिकता देने वालों का स्वागत है

राजस्थान के सासंद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में कोई विजन नहीं बचा है और इसलिए नेताओं को पार्टी छोड़कर विजन वाली दूसरी पार्टी में जाना होगा.

राजस्थान के सासंद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में कोई विजन नहीं बचा है और इसलिए नेताओं को पार्टी छोड़कर विजन वाली दूसरी पार्टी में जाना होगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. राजस्थान में अपनी ही सरकार और सीएम अशोक गहलोत से नाराज चल रहे कांग्रेस नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) के लिए बीजेपी ने अपने दरवाजे खोल दिए हैं. पायलट को इशारों ही इशारों में ऑफर देते हुए बीजेपी नेता ने कहा है कि पार्टी का दरवाजा उन सभी लोगों के लिए खुला हुआ है जो देश को पहली प्राथमिकता देते हैं.

    राजस्थान के सासंद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में कोई विजन नहीं बचा है और इसलिए नेताओं को पार्टी छोड़कर विजन वाली दूसरी पार्टी में जाना होगा. सचिन पायलट के बीजेपी में शामिल होने के सवाल के जवाब में राठौर ने कहा, ''हमारी पार्टी उन सभी लोगों के लिए खुली हुई है जो देश को प्राथमिकता देते हैं और अपनी विचारधारा 'इंडिया फर्स्ट' कर सकते हैं.''

    कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को बताया कमजोर
    कांग्रेस पार्टी में फूट के लिए राष्ट्रीय नेतृत्व को जिम्मेदार बताते हुए राठौर ने कहा, ''जब केंद्र में आपका नेतृत्व कमजोर होता है तो क्षेत्रीय नेता अपनी मनमर्जी करते हैं, भले ही आपका संदेश कुछ भी हो, चाहे पंजाब हो या राजस्थान. विजन नहीं होने की वजह से नेता पार्टी छोड़कर विजन वाली पार्टी जॉइन करेंगे.''


    राठौर ने कहा कि ऐसे समय में जब उन्हें कोरोना प्रबंधन करा था, इंजेक्शन कचरे के डिब्बे और नालियों में मिल रहे हैं, वे सिर्फ सत्ता में रहने का प्रबंधन कर रहे हैं.

    पायलट गुट के विधायक की ओर से फोन टैपिंग का आरोप लगाए जाने को लेकर उन्होंने कहा, ''पद, सत्ता और धन को लेकर 2.5 साल से राजस्थान कांग्रेस में आंतरिक कलह है. कभी वे महीनों तक होटल में रहते हैं तो कभी सरकार की मशीनरी का इस्तेमाल फोन टैपिंग के लिए होता है.''

    बता दें कांग्रेस की राजस्थान इकाई में फिर से टकराव की स्थिति बनने की खबरें सामने आ रही हैं. वही पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थक नेताओं का कहना है कि पायलट द्वारा उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए इंतजार लंबा हो रहा है, हालांकि उन्हें उम्मीद है कि आलाकमान जल्द ही उचित कदम उठाएगा.

    पायलट के करीबी सूत्रों ने बताया कि उनके समर्थक विधायक और अन्य नेता सरकार और संगठन में अपनी वाजिब हिस्सेदारी चाहते हैं और उम्मीद कर रहे हैं कि यह जल्द होगा. इन सूत्रों ने यह भी स्पष्ट किया कि पायलट के समर्थक नेता कांग्रेस के भीतर रहकर अपना मुद्दा उठाना चाहते हैं.

    इस बारे में पायलट ने कुछ भी टिप्प्णी करने से इनकार किया है.


    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.