Assembly Banner 2021

माइक बंद होने के बाद दूसरे पोडियम पर पहुंचे जेपी नड्डा, कहा- मंच बदल सकता है, इरादे नहीं

बंगाल के बीरभूम में एक रैली को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा. (एएनआई/9 फरवरी, 2021)

बंगाल के बीरभूम में एक रैली को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा. (एएनआई/9 फरवरी, 2021)

West Bengal Assembly Election: जेपी नड्डा बंगाल में प्रशासन के राजनीतिकरण और राजनीति के अपराधीकरण को लेकर भी ममता सरकार पर बरसे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2021, 4:58 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस के शासनकाल में बंगाल की संस्कृति को खतरा है. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि भाजपा ही पश्चिम बंगाल में 'असल परिवर्तन' लाएगी. बंगाल के बीरभूम में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही. नड्डा ने ममता पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें न मां की चिंता है, न माटी से प्यार है और न ही मानुष की चिंता है. उनको केवल तानाशाही से मतलब है.

मंच से जनता को संबोधित करने के दौरान जेपी नड्डा का माइक बंद हो गया, जिसके बाद वो दूसरे पोडियम पर गए और कहा, 'मंच बदल सकता है, इरादे नहीं बदल सकते. योजनाएं कितनी भी बनाओ रोकने की, हम रुक नहीं सकते.' उन्होंने कहा, 'एक तरफ हम ममता जी को और बंगाल को देख रहे हैं. आज उनके नेतृत्व में बंगाल की संस्कृति भी खतरे में पड़ गई है. जो बंगाल संस्कृति, विकास, देश दृष्टि और दिशा देने के लिए जाना जाता था, ऐसे बंगाल के विकास को रोकने का काम, बंगाल में भ्रष्टाचार फैलाने का काम, ममता सरकार ने किया है.'

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की परिवर्तन यात्रा बंगाल के घर-घर जाएगी, इलाके का दौरा करेंगे, बंगाल की जनता को जागरूक करेगी और जनता को साथ लेकर बंगाल का असली परिवर्तन करेगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि ये यात्राएं हम सभी को विकास की ओर ले जाने के लिए प्रेरित करते हुए जनता को जोड़ने का काम करेगी. नड्डा बंगाल में प्रशासन के राजनीतिकरण और राजनीति के अपराधीकरण को लेकर भी ममता सरकार पर बरसे. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार संस्थागत हो गया है. इस दौरान उन्होंने भाजपा के 130 कार्यकर्ताओं के मारे जाने का भी जिक्र किया.
दूसरी ओर, वर्धमान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर हमला बोला. उन्होंने कहा, 'वे किसानों और उनकी जमीन छीन लेंगे. किसानों के पास कुछ भी बाकी नहीं रह जाएगा. किसान अपनी फसलों की बुआई-कटाई करेंगे और वे उनसे सब कुछ छीनकर ले जाएंगे.' उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव इस साल अप्रैल-मई में होने हैं, जिसे लेकर सभी पार्टियों ने अपनी तैयारियों को अमलीजामा पहनाना शुरू कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज