बंगाल में 250 से ज्यादा सीट जीतने की तैयारी में बीजेपी, ये है प्लान!

टीएमसी का कहना है कि 2021 में भी तृणमूल का झंडा लहराएगा और राज्य में सत्ता में आने का बीजेपी का सपना चूर-चूर हो जाएगा.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 2:12 PM IST
बंगाल में 250 से ज्यादा सीट जीतने की तैयारी में बीजेपी, ये है प्लान!
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 2:12 PM IST
हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में शानदार प्रदर्शन किया. लोकसभा चुनावों में मिली शानदार जीत से उत्साहित बीजेपी अभी से 2021 में प्रस्तावित विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. पार्टी 294 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम 250 सीटें पाने की जुगत में है.

लोकसभा चुनाव में राज्य की 42 में से 18 सीटें जीतने के बाद बीजेपी 2021 के लिए खाका तैयार कर रही है. इसमें तमाम रणनीतियों के अलावा तृणमूल कांग्रेस से पार्टी में आने के इच्छुक नेताओं की छंटनी भी शामिल है. आम चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को 22 सीटें मिली हैं.

तृणमूल कांग्रेस के बांग्ला गौरव के मुद्दे के सामने बीजेपी बंगालियों के हितों के मुद्दे को खड़ा करेगी. 2021 में बीजेपी का मुख्य हथियार होगा रोजगार सृजन के लिए औद्योगिकीकरण और राज्य के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) ताकि अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को खदेड़ा जा सके.

तृणमूल कांग्रेस भी टक्कर देने क लिए तैयार

सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी की इस योजना पर खास ध्यान नहीं दे रही है. टीएमसी का कहना है कि 2021 में भी तृणमूल का झंडा लहराएगा और राज्य में सत्ता में आने का बीजेपी का सपना चूर-चूर हो जाएगा. आम चुनावों में पश्चिम बंगाल में बीजेपी के पक्ष में 40.5 प्रतिशत मत पड़े थे और फिलहाल विधानसभा में उसके छह विधायक हैं.

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, "लोकसभा चुनाव के लिए हमने 23 सीटों का लक्ष्य रखा था और 18 सीटें मिलीं. अब हमारा नया लक्ष्य (विधानसभा चुनाव में) 250 सीटों का है. हम अपनी चुनावी रणनीति बनाएंगे और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए जी तोड़ मेहनत करेंगे."

ये भी पढ़ें: JDU के साथ मजबूती से जुड़े हैं प्रशांत किशोर, राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लेंगे हिस्‍सा!
Loading...

पश्चिम बंगाल में बढ़ी बीजेपी की ताकत
पिछले पांच साल में बीजेपी राज्य में महत्वपूर्ण राजनीतिक खिलाड़ी बनकर उभरी है. एक वक्त जिस राज्य में वाम दलों और तृणमूल कांग्रेस के अलावा किसी का नाम सुनाई नहीं देता था, आज बीजेपी उस गढ़ में पैठ बनाने में कामयाब रही है.

2014 में 34 लोकसभा सीटें जीतने वाली तृणमूल कांग्रेस इस आम चुनाव में 22 सीटें ही जीत पाई. कांग्रेस चार सीटों से घट कर दो पर आ गई और माकपा अपना खाता भी नहीं खोल पाई.

ये भी पढ़ें: प्रशांत किशोर का TMC के साथ समझौता फाइनल, अब ममता के लिए करेंगे काम!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 9, 2019, 1:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...