लाइव टीवी

जेपी नड्डा से मिले सुखबीर बादल, दिल्ली चुनाव में करेंगे भाजपा का समर्थन

News18Hindi
Updated: January 29, 2020, 5:59 PM IST
जेपी नड्डा से मिले सुखबीर बादल, दिल्ली चुनाव में करेंगे भाजपा का समर्थन
शिअद प्रमुख सुखबीर बादल आज भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की. (Photo- ANI)

इससे पहले शिरोमणी अकाली दल ने दिल्ली चुनाव (Delhi Elections) न लड़ने का फैसला किया था. शिअद ने यह फैसला नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर बीजेपी के साथ चल रहे अपने मतभेदों के चलते किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2020, 5:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (Jagat Prakash Nadda) से मुलाकात की. दिल्ली चुनाव (Delhi Elections) के मद्देनजर हुई इस मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने घोषणा की है कि शिअद दिल्ली चुनाव में भाजपा का समर्थन करेगी. इससे पहले शिरोमणी अकाली दल ने दिल्ली चुनाव न लड़ने का फैसला किया था. शिअद ने यह फैसला नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर बीजेपी के साथ चल रहे अपने मतभेदों के चलते किया था.

बैठक के बाद जेपी नड्डा ने कहा- "मैं आभारी हूं शिरोमणि अकाली दल का कि उन्होने दिल्ली चुनाव में बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया है. सुखबीर बादल ने आश्वासन दिया है कि सारे सिख भाइयों का समर्थन हमें मिलेगा. अकाली दल के साथ हमारा गठबंधन सबसे पुराना है हम सुखबीर बादल के आभारी हैं."

शिरोमणी अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल ने कहा था कि नागरिकता कानून में मुस्लिमों को भी शामिल किया जाना चाहिए. खबरें यह भी सामने आई थीं कि शिरोमणी अकाली दल 2022 में होने वाले पंजाब चुनाव (Punjab Elections) में अकेले मैदान में उतरेगी. हालांकि जल्द ही पार्टी चीफ सुखबीर बादल ने इन खबरों का खंडन कर दिया था. सुखबीर सिंह बादल ने सोमवार को संकेत दिया कि पंजाब में उसका भाजपा के साथ गठबंधन बना हुआ है.

बादल बोले बीजेपी के मुताबिक करेंगे काम

सुखबीर बादल ने जेपी नड्डा संग हुई बैठक के बाद कहा-  "ये कोई पॉलिटिकल गठबंधन नहीं है, ये भावनात्मक गठजोड़ है जो कि पंजाब के लोगों और सिख लोगों के हित के लिए है. हमारी पार्टी को सौ साल होने को आ रहे हैं हमें सिख संगत का समर्थन हासिल है. जैसा बीजेपी लीडरशिप कहेगी वैसे ही हमारी पंजाब और दिल्ली यूनिट कार्डिनेशन टीम बनाकर काम करेगी."

पंजाब चुनाव पर शिअद ने दिया ये जवाब
जब अमृतसर में संवाददाताओं ने बादल से पूछा कि क्या शिअद और भाजपा 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव अलग अलग लड़ेंगे तो उन्होंने कहा कि 'ऐसी खबरें बस मीडिया में हैं और वह पिछले 20 दिनों से ऐसी खबरें सुनते आ रहे हैं.'बादल ने 26 जनवरी को मुफ्त स्मार्टफोन देने के अपने चुनावी वादे पर नहीं खरा उतरने को लेकर कांग्रेस नीत पंजाब सरकार पर प्रहार करते हुए कहा, "मैं आपको बताना चाहता हूं कि वह (कांग्रेस नीत सरकार) (लोगों को) कुछ भी नहीं देगी. वह तो बस, तारीखें दे रही है. पंजाब के लोग दो साल बाद बोरिया बिस्तर समेटकर उसे भेज देंगे."



सीएए के मुद्दे पर बादल ने कहा कि उनकी पार्टी इस कानून के पक्ष में है इसलिए उसने उसके पक्ष में वोट दिया लेकिन साथ ही वह यह भी चहती है कि मुसलमानों को भी उसमें शामिल किया जाए. जब भाजपा ने शिअद से इस कानून पर अपना रूख बदलने को कहा था तब उसने ऐलान किया था कि वह आगामी दिल्ली चुनाव नहीं लड़ेगा.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
Delhi Election 2020: बीजेपी को इस स्पेशल अभियान से टक्कर देगी AAP

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 4:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर