BJP के निशाने पर कुमारस्‍वामी सरकार, सत्‍ता में आने की कोशिशें फिर से शुरू

मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी ने भी दावा किया है कि बीजेपी राज्‍य की सत्‍ता में आने की फिर से कोशिश कर रही है.

D P Satish | News18Hindi
Updated: September 8, 2018, 5:30 PM IST
BJP के निशाने पर कुमारस्‍वामी सरकार, सत्‍ता में आने की कोशिशें फिर से शुरू
येदियुरप्पा
D P Satish
D P Satish | News18Hindi
Updated: September 8, 2018, 5:30 PM IST
कर्नाटक में बीजेपी के एक बार फिर से सरकार बनाने की कोशिशें तेज करने की सरगर्मियां बढ़ गई हैं. इसके तहत उसके निशाने पर कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की 100 दिन पुरानी सरकार है. कर्नाटक बीजेपी अध्‍यक्ष बीएस येदियुरप्‍पा की हालिया गतिविधियां और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ताकतवर मंत्री और कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को केंद्रीय जांच एजेंसियों की ओर से हिरासत में लेने के कथित प्रयासों ने इन खबरों को हवा दी है. मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी ने भी दावा किया है कि बीजेपी राज्‍य की सत्‍ता में आने की फिर से कोशिश कर रही है.

येदियुरप्‍पा बीजेपी राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को छोड़कर शनिवार को दिल्‍ली से बेंगलुरु लौट आए जिससे अटकलों का बाजार गर्म हो गया. बाद में उन्‍होंने सफाई दी कि वह परिवार में बेहद जरूरी काम होने के चलते लौटे हैं और इसका राजनीति से कोई लेना देना नहीं है. हालांकि पूर्व मुख्‍यमंत्री जगदीश शेट्टार ने माना कि राज्‍य के वर्तमान हालातों को देखते हुए बीजेपी फायदा उठाना चाहेगी.

बेलगाम जिले में कांग्रेस विधायक लक्ष्‍मी हेब्‍बलकर और ताकतवर जारखीहोली भाइयों के बीच तनाव ने कर्नाटक की गठबंधन सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है. कर्नाटक कांग्रेस अध्‍यक्ष दिनेश गुंडुराव ने बताया कि पार्टी आलाकमान के दखल के बाद तनाव समाप्‍त हो गया और बीजेपी केवल सपना देख रही है. इसी बीच, प्रवर्तन निदेशालय कथित तौर पर जल संसाधन मंत्री डीके शिवकुमार और उनके भाई व कांग्रेस सांसद डीके सुरेश के खिलाफ घेरा बढ़ा रही है.

शनिवार को दोनों भाइयों ने न्‍यूज18 को बताया कि बीजेपी सत्‍ता के भूखी है और वह मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है. डीके शिवकुमार ने कहा, 'कर्नाटक बीजेपी ईडी और आयकर विभाग को हमें परेशान करने के लिए इस्‍तेमाल कर रही है. उन्‍हें लगता है कि हम पर दबाव बनाकर वे सरकार को गिरा देंगे. लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा. हम पलटवार करेंगे और सरकार बनी रहेगी.'

न्‍यूज18 से बातचीत में मुख्‍यमंत्री कुमारस्‍वामी ने कहा कि उन्‍हें हटाने के लिए बीजेपी जो 'गंदी' तरीके अपना रही है उसकी उन्‍हें जानकारी है और उनकी सरकार इतनी कमजोर नहीं है कि इस तरह से गिर जाए. उन्‍होंने कहा, 'हाल ही में हुए निकाय चुनावों में हमने अच्‍छा प्रदर्शन किया है. कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर 60 प्रतिशत सीटें और 53 फीसदी वोट हासिल किए हैं. शहरी क्षेत्रों में बीजेपी अब ताकत नहीं है. यदि हम लोकसभा तक सत्‍ता में रहे तो बीजेपी को शिकस्‍त मिलेगी. इसलिए वे पुराने तरीके अपना रहे हैं. लेकिन हम उनसे फिर से लड़ने को तैयार हैं.'

कर्नाटक विधानसभा में 224 सीटें हैं और वर्तमान में इनमें से दो सीट खाली हैं. कुमारस्‍वामी के पास कांग्रेस के 79, जेडीएस के 36, बसपा का एक और दो निर्दलीय विधायक सहित 118 विधायक हैं. वहीं बीजेपी के पास 104 विधायक हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर