Home /News /nation /

कोरोना में चुनावी रैलियों पर संकट! वोटर्स तक पहुंचने के लिए बीजेपी ने बनाई ये रणनीति

कोरोना में चुनावी रैलियों पर संकट! वोटर्स तक पहुंचने के लिए बीजेपी ने बनाई ये रणनीति

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

BJP Rethinks Campaign Strategy in poll bound states: कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण का असर चुनाव प्रचार पर भी पड़ा है. चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के लिए रैली और रोड शो पर 22 जनवरी तक प्रतिबंध को बढ़ा दिया है. बीजेपी ने ऑन ग्राउंड कैंपेन के लिए कुछ टीमों को तैयार किया है ताकि प्रचार के दौरान मतदाताओं तक पार्टी के एजेंडे को पहुंचाया जा सके. इसके लिए अलग-अलग कमेटी और पार्टी नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

अधिक पढ़ें ...

प्रज्ञा कौशिक

नई दिल्ली: चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के मद्देनजर 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के लिए रैली और रोड शो पर 22 जनवरी तक प्रतिबंध को बढ़ा दिया है. ऐसे में राजनीतिक दलों को अपनी आवाज जनता तक पहुंचाने में थोड़ी परेशानी हो रही है. बीजेपी (BJP) ने ऑन ग्राउंड कैंपेन के लिए कुछ टीमों को तैयार किया है ताकि प्रचार के दौरान मतदाताओं तक पार्टी के एजेंडे को पहुंचाया जा सके.

सूत्रों के अनुसार, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने हाल ही में एक मीटिंग में इन टीमों का गठन किया है. इस टीम के माध्यम से पार्टी ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं तक पहुंचने की कोशिश करेगी और पार्टी का शीर्ष नेतृत्व सभी चुनावी राज्यों में बूथ लेवल पर बैठकों का आयोजन करेगा.

इसके लिए विभिन्न कमेटियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे मतदाताओं से मिलें और उन्हें पार्टी के बेहतर कार्यों से प्रभावित करने की कोशिश करें. इन कमेटी में शामिल नेताओं को 20 से 50 मतदाताओं के साथ हर घर में बैठकें करने को कहा गया है और प्रत्येक बूथ पर इस तरह की 8 से 10 मीटिंग आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं. नेताओं को कहा गया है कि उन्हें 2 बैठकों में शामिल होना होगा. सूत्रों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर के बीच बीजेपी को चुनावी राज्यों में प्रचार के लिए अपनी रणनीति पर पुनर्विचार करना पड़ा है.

यह भी पढ़ें: मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव कल BJP में होंगी शामिल, दिल्‍ली रवाना

पार्टी द्वारा गठित अलग-अलग टीम में से एक दल इनडोर मीटिंग का आयोजन करेगा जबकि अन्य दल वर्चुअल मीटिंग आयोजित कराएगा, जिसका सीधा प्रसारण पार्टी मुख्यालाय से होगा. वहीं महिला और युवा मोर्चा दोनों को लोगों के बीच जाकर प्रचार करने की जिम्मेदारी दी गई है.

इसके अलावा पार्टी ने नियमित तौर पर वीडियो कॉन्फ्रेंस जारी रखने का फैसला भी किया है, खासकर उस परिस्थिति में जब पार्टी के लोगों को जनता के बीच किसी कठिन सवाल का सामना करना पड़े. पार्टी सूत्रों ने कहा कि कभी जनता की ओर से कुछ मुश्किल प्रश्न आते हैं जिनके जवाब के लिए अलग से सेशन आयोजित रखने की योजना बनाई गई है. बीजेपी ने वरिष्ठ नागरिकों, कोविड-19 से पीड़ित मरीज और शारीरिक रूप से असक्षम उन लोगों की सूची बनाई है जो बैलेट के माध्यम से वोट कर सकते हैं. इसके अलावा एक कार्यकर्ता को 20 मतदाताओं की जिम्मेदारी दी गई है.

बीजेपी ने अपने इस चुनावी प्रचार अभियान में राष्ट्रीय नेताओं के साथ-साथ जिला स्तर के नेताओं को भी जिम्मेदारी दी है. सूत्रों की मानें, तो इस रणनीति के तहत बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं को तैनात किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि पार्टी समर्थक मतदाता वोटिंग के दिन बाहर निकलें.

Tags: Assembly Election 2022, BJP, UP Assembly Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर