आर्टिकल 370 पर केंद्र को मिला BJP के मुख्यमंत्रियों का साथ, PM मोदी-शाह को करेंगे सम्मानित

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए बीजेपी अध्‍यक्ष शाह(Amit shah) ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जम्‍मू-कश्‍मीर (jammu kashmir) और लद्दाख के विकास के लिए अपना नजरिया सामने रखा है.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 12:25 PM IST
आर्टिकल 370 पर केंद्र को मिला BJP  के मुख्यमंत्रियों का साथ, PM मोदी-शाह को करेंगे सम्मानित
आर्टिकल 370 पर PM नरेंद्र मोदी और अमित शाह को मिला BJP के CM का साथ
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 12:25 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 8 अगस्‍त को रात 8 बजे अनुच्‍छेद 370 (Article 370) और धारा 35ए हटाने के औचित्‍य को लेकर देश को संबोधित किया. उनके संबोधन के बाद देश में अलग-अलग जगहों से इस पर सकारात्‍मक प्रतिक्रियाएं आई हैं.

दैनिक भास्‍कर की खबर के मुताबिक विभिन्‍न भाजपा शासित राज्‍यों की सरकारें अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाने को लेकर एक प्रस्‍ताव पारित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह का अभिनंदन करेंगी. भाजपा के केंद्रीय संगठन की ओर से जारी दिशा निर्देश में सभी राज्‍य इकाइयों को इसके निर्देश दे दिए गए हैं.

प्रधानमंत्री मोदी(PM Narendra Modi) के संबोधन पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए बीजेपी अध्‍यक्ष शाह (Amit shah) ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख के विकास के लिए अपना नजरिया सामने रखा है. शाह ने ट्वीट कर कहा कि इन क्षेत्रों में शांति, संपन्‍नता और जनकल्‍याण पीएम के लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता है.

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि एक देश के रूप में भारत को प्रधानमंत्री का समर्थन करना चाहिए.

विरोध करने वाले देश फैलाते हैं कश्मीर में अशांति
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा इस पहल से कुछ पड़ोसी देशों को बुरा लगा है, यह वही देश हैं जो जम्‍मू कश्‍मीर में अशांति फैलाते हैं. नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पहले पांच साल में जम्‍मू कश्‍मीर में स्‍थायी शांत‍ि स्‍थापित करने के लिए जमीन तैयार की थी. अब सरकार में वापस आने के बाद हमने इस दिशा में कई बड़े कदम उठाए हैं. हमने पिछले संसद संत्र में न सिर्फ धारा 370 को खत्‍म कर दिया, बल्कि वे कदम भी उठाए जो 70 साल से जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख को पिछड़ा बनाए हुए थे.

कांग्रेस नेता कर्ण सिंह ने किया समर्थन
Loading...

प्रधानमंत्री का संदेश आने से पहले ही जम्‍मू कश्‍मीर के राज परिवार के सदस्‍य और कांग्रेस नेता कर्ण सिंह ने कहा कि सरकार के फैसले में बहुत सी सकारात्‍मक बातें हैं. उन्‍होंने कहा कि लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाना स्‍वागतयोग्‍य कदम है. धारा 35 ए के जरिये होने वाला लैंगिक भेदभाव खत्‍म होना चाहिए था. इसके साथ ही पाकिस्‍तान से आए शरणार्थियों को भी उनके अधिकार मिलने चाहिए थे.

उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू और कश्‍मीर में पूनर्सीमांकन होना चाहिए ताकि जम्‍मू और कश्‍मीर को आनुपातिक प्रततिनिधित्‍व मिल सके.

‘केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद’
उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर के केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, सेब का मीठापन हो या खुबानी का रसीलापन, कश्मीरी शॉल हो या फिर कलाकृतियां, लद्दाख के ऑर्गैनिक प्रॉडक्ट्स हों या हर्बल मेडिसिन, इन सबका प्रसार दुनियाभर में किए जाने की जरूरत है.

मायावती के निशाने पर अब अखिलेश के यादव वोटर, मुसलमानों और ब्राह्मणों को भी साधा
First published: August 9, 2019, 12:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...