अपना शहर चुनें

States

सौमित्र खान का दावा- ज्योतिषी के कहने पर TMC में शामिल हुईं पत्नी, सुजाता बोलीं- अब भी लगाती हूं सिंदूर

सुजाता मोंडल (फाइल फोटो)
सुजाता मोंडल (फाइल फोटो)

सौमित्र खान (Saumitra Khan) ने टीएमसी नेतृत्व (TMC) से आग्रह किया कि वह सुनिश्चित करें कि सुजाता मंडल (Sujata Mondal) पर किसी प्रकार का हमला नहीं हो या उन्हें नुकसान नहीं पहुंचाया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 22, 2020, 9:16 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद सौमित्र खान (Saumitra Khan) की पत्नी सुजाता मंडल खान सोमवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हो गईं. उनका दावा है कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में अपने पति को जिताने के लिए कई जोखिम उठाने के बावजूद उन्हें वाजिब पहचान नहीं मिली. इसके कुछ देर बाद ही सौमित्र खान ने कहा कि वह अपनी पत्नी सुजाता मंडल को तलाक का नोटिस भेज रहे हैं और उनसे अनुरोध किया कि वह अब उनका उपनाम इस्तेमाल नहीं करें. इससे पहले सुजाता मंडल ने आरोप लगाया कि भाजपा में 'नए-नए शामिल हुए, बेमेल और भ्रष्ट नेताओं' को निष्ठावानों से ज्यादा तरजीह मिल रही है.

वहीं सौमित्र खान ने कहा कि वह उनके सुखद भविष्य की कामना करते हैं. उन्होंने दावा किया ज्योतिषी ने उनकी पत्नी सुजाता को टीएमसी में शामिल होने के लिए कहा. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि ज्योतिषी ने सुजाता मंडल को आश्वस्त किया कि अगर वह अपनी पार्टी बदलती हैं, तो उन्हें बड़ा पद मिलेगा. उन्होंने टीएमसी पर अपने परिवार को तोड़ने का भी आरोप लगाया और सुजाता को अपना उपनाम छोड़ने को कहा.

टीएमसी ने मेरे परिवार की लक्ष्मी को चुरा लिया- खान
उन्होंने कहा, 'आज टीएमसी ने मेरे परिवार की लक्ष्मी को चुरा लिया है. मुझे नहीं पता कि सुजाता को कौन सा पद देंगे. उसे राज्य का सीएम बना सकते हैं. लेकिन मैं उससे अनुरोध करना चाहता हूं कि वह मेरे खान सरनेम का इस्तेमाल बंद कर दे.'




हालांकि खान की घोषणा के बाद मंडल ने कहा कि उन्होंने अपनी शादी तोड़ने के बारे में कभी नहीं सोचा था. मंडल ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि कौन उसे यह कह रहा है. कुछ लोग, जिनके खुद के परिवार नहीं हैं, दूसरों के घरों को तोड़ने का आनंद ले रहे हैं.' उन्होंने कहा कि दो लोगों के अलग-अलग दलों में शामिल होने के कई उदाहरण हैं.

मंडल ने कहा कि अपने लिए कुछ जगह बनाने और सम्मान हासिल करने के लिए वह टीएमसी में आईं. मंडल ने पूछा- 'क्या खान उनसे अलग होना चाहते हैं?' उन्होंने कहा, 'मैं  कभी उनके अमंगल की कामना नहीं करूंगी.  वह हर चीज में सफल हों. वह मुझे अपनी पत्नी मानते हैं या नहीं, मैं अभी भी उन्हें अपना पति मानती हूं. मैं उनके नाम पर सिंदूर लगाती हूं.'

सौमित्र द्वारा सरनेम छोड़ने के अनुरोध पर, मंडल ने कहा कि महिलाओं को अब उनके पति या पिता के नाम से नहीं पहचाना जाना चाहिए. मैं एक ऐसी दुनिया में रहना चाहती हूं, जहां महिलाएं अपने काम से पहचानी जाएं ना कि अपने नाम से. मैं अपने पति या पिता के सरनेम से पहचाना जाना नहीं चाहती. इसलिए मैं सुजाता मंडल और अपने काम के जरिए लोगों के बीच अपनी पहुंच बनाना चाहती हूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज