15 दिसंबर के बाद मिलेगा BJP को नया राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, ये है वजह

गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के नेतृत्‍व में बीजेपी (BJP) झारखंड, महाराष्ट्र और हरियाणा का विधानसभा चुनाव लड़ेगी.

Anup Gupta | News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 8:03 PM IST
15 दिसंबर के बाद मिलेगा BJP को नया राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, ये है वजह
गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के नेतृत्‍व में बीजेपी (BJP) झारखंड, महाराष्ट्र और हरियाणा का विधानसभा चुनाव लड़ेगी.
Anup Gupta
Anup Gupta | News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 8:03 PM IST
आने वाले तीन राज्यों का विधानसभा चुनाव बीजेपी गृह मंत्री अध्‍यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के नेतृत्व में ही लड़ने वाली है. इस साल के आखिरी में झारखंड, महाराष्ट्र और हरियाणा (Jharkhand, Maharashtra and Haryana) में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने हैं. जबकि ये तीनों राज्य बीजेपी के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हैं. साफ है कि बीजेपी को अपना नया राष्ट्रीय अध्यक्ष इन तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद ही मिलने वाला है. हालांकि अमित शाह के नेतृत्व में बीजेपी ने लोकसभा में प्रचंड जीत दर्ज करते हुए 303 सीटें पाई हैं.

अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद
अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद जेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. नए अध्यक्ष और पूरे देश में संगठन के चुनाव के लिए बीजेपी ने राधा मोहन सिंह के नेतृत्व में चुनाव समिति का गठन कर दिया है. लेकिन पूरे देश भर में संगठन के चुनाव में देरी की वजह से राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव 15 दिसंबर के बाद ही संभव होने की गुंजाइश है.

11 सितंबर से शुरू होगी प्रक्रिया

बहरहाल, जो कार्यक्रम तय किया गया है उसके मुताबिक संगठन चुनाव की प्रक्रिया 11 सितंबर से शुरू की जाएगी. 11 अक्टूबर से 31 अक्टूबर के बीच मंडल स्तर के अध्यक्ष का चुनाव सम्पन्न कराया जाएगा. जबकि 1 दिसंबर से 15 दिसंबर तक प्रदेश अध्यक्षों और राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों के चुनाव कराए जाएंगे.

स्थानीय और राज्य के स्तर पर संगठन के चुनाव सम्पन्न होने के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव कराया जाएगा, जिसकी प्रक्रिया भी तकरीबन 15 दिन से 1 महीने तक चल सकती है. साफ है कि अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष बीजेपी को 15 दिसंबर के बाद मिलने वाला है.

ये है अध्‍यक्ष देर से चुनने की वजह
Loading...

चुनाव प्रक्रिया में देरी की वजह देश भर में बीजेपी सदस्यता अभियान का चलना है. सदस्यता अभियान पहले 11 अगस्त तक चलना था जो अब 20 अगस्त तक चलाया जा रहा है. सदस्यता अभियान के बाद सक्रिय सदस्यता भी 11 अगस्त से 30 अगस्त तक चलाया जाएगा.

ये भी पढ़ें-स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लॉन्‍च होगा RPF का पहला कमांडो दस्ता, करेगा ये खास काम

'आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्‍मू-कश्मीर में कोई राजनीतिक कैदी नहीं'
First published: August 13, 2019, 6:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...