भाजपा केरल में विश्वसनीय तीसरे विकल्प के रूप में उभरेगी: प्रल्हाद जोशी

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी (Photo-ANI)

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी (Photo-ANI)

Kerala Assembly Election 2021: मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाले एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा कि ‘‘कौन अधिक भ्रष्टाचार’’ कर सकता है, इस बात को लेकर दोनों गठबंधनों में प्रतिद्वंद्विता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री व केरल विधानसभा चुनाव के लिए नियुक्त भाजपा प्रभारी प्रल्हाद जोशी ने सोमवार को दावा किया कि भाजपा राज्य की राजनीति में लंबे समय से प्रभुत्व रखने वाले गठबंधनों, वाम लोकतात्रिक मोर्चा (एलडीएफ) और संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) से इतर एक मजबूत और विश्वसनीय तीसरे विकल्प के रूप में उभरेगी. उन्होंने भरोसा जताया कि इस बार के चुनाव में भाजपा की स्थिति में सुधार होगा और उसकी सीटों की संख्या में भी इजाफा होगा.

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाले एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा कि ‘‘कौन अधिक भ्रष्टाचार’’ कर सकता है, इस बात को लेकर दोनों गठबंधनों में प्रतिद्वंद्विता है. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की आर्थिक समृद्धि के लिए दोनों गठबंधनों ने कुछ नहीं किया. उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘केरल की अर्थव्यवस्था अब भी मुख्यत: विदेशों से आने वाले धन पर निर्भर है. एलडीएफ और यूडीएफ ने राज्य के लिए कुछ नहीं किया. भ्रष्टाचार और घोटालों में दोनों ने एक दूसरे को जरूर चुनौती दी.’’

Youtube Video

राहुल गंभीर राजनीतिज्ञ नहीं
जोशी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में कहा कि वे बिल्कुल भी गंभीर राजनीतिज्ञ नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस डूब रही है और वह (राहुल) राजनीतिक बयानबाजी में व्यस्त हैं. लोगों को अनुभव हो गया है कि वे पार्ट-टाइम (अंशकालिक) राजनीतिज्ञ हैं. उन्हें यह तक पता नहीं है कि मत्स्य मंत्रालय भी है देश में.’’

भाजपा नेता ने दावा किया कि विधानसभा चुनाव में भाजपा अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराएगी. उन्होंने कहा, ‘‘केरल में भाजपा का अपना आधार है जो वैचारिक रूप से भाजपा से जुड़ा हुआ है लेकिन वह भाजपा की जीत को लेकर कभी आश्वस्त नहीं रहा. बहरहाल, अब यह विश्वास जगा है. भाजपा तीसरे विकल्प के रूप में उभरेगी.’’

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा एक विश्वसनीय राजनीतिक दल के रूप में केरल में तीसरे विकल्प के रूप में उभरेगी. इस बार का चुनाव दो पक्षीय नहीं होगा. कई स्थानों पर राज्य में त्रिकोणीय मुकाबला है. भाजपा के आंकड़े ना सिर्फ बढ़ेंगे, बल्कि वोट प्रतिशत में भी इजाफा होगा.’’



केरल की 150 सदस्यीय विधानसभा के गठन के लिए छह अप्रैल को मतदान होना है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज