तेलंगाना उपचुनाव में BJP ने मारी बाजी, क्या कहती है दक्षिण भारतीय राज्य में कमल की ये जीत

तेलंगाना उपचुनाव में जीत पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी है. (Pic- File PTI)
तेलंगाना उपचुनाव में जीत पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी है. (Pic- File PTI)

इस सीट पर टीआरएस (TRS) की प्रतिष्ठा भी दांव पर थी. दरअसल, यह सीट सीएम केसीआर (KCR) की गजवेल सीट, उनके बेटे केटीआर की सिरसिल्ला सीट और भतीजे हरीश राव की सिद्धीपेट सीट के पास है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 11:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना की दुब्बाक विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी ने बाजी मारी है. बीजेपी (BJP) कैंडिडेट माधवानेनि रघुनंदन राव (Madhavaneni Raghunandan Rao) ने जीत का परचम लहराया है. चुनाव आयोग (Election Commission) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, राव को कुल 63352 वोट मिले हैं. इन चुनावों में बीजेपी को तेलंगाना राष्ट्रीय समिति के सोलिपेटा सुजाता से कांटे की टक्कर मिली है. आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, सुजाता को 62273 वोट मिले हैं.

यह सीट तेलंगाना राष्ट्र समिति के विधायक सोलिपेटा रामलिंगा की मृत्यु के बाद खाली हुई थी. TRS के कब्जे वाली इस सीट पर बीजेपी की जीत को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इस सीट का महत्व इस बात से समझा जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर रघुनंदन राव को बधाई दी है. उन्होंने लिखा है-मैं तेलंगाना के लोगों का धन्यवाद अदा करना चाहता हूं कि उन्होंने राज्य बीजेपी को आशीर्वाद दिया. यह एक ऐतिहासिक जीत है और राज्य की सेवा के लिए हमारी प्रेरणा को ज्यादा मजबूत करती है. हमारे कार्यकर्ताओं ने कड़ी मेहनत की और बीजेपी के विकास के एजेंडे को मजबूत बनाया.


इस सीट पर जीत के साथ बीजेपी की राज्य में 2 सीटें हो गई हैं. 2014 में तेलंगाना में पहली बार हुए विधानसभा चुनाव में राज्य की कुल 119 सीटों में बीजेपी को 5 सीटें हासिल हुई थीं. लेकिन फिर बाद में 2019 के चुनाव में पार्टी को झटका लगा और सीटें घटकर सिर्फ एक रह गई है.



संयुक्त आंध्र प्रदेश का हिस्सा रहे तेलंगाना के इलाकों में अपने पांव मजबूत करने के लिए बीजेपी लंबे समय से प्रयास कर रही है. देश के दक्षिणी हिस्से में कर्नाटक इकलौता राज्य रहा है जहां पर बीजेपी ने सरकार बनाई है. दुब्बाक सीट पर बीजेपी की जीत का ऐलान होने के बाद राज्यसभा सांसद और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव चंद्रशेखर ने इस जीत को गेम चेंजर जीत बताया है. उन्होंने सीट के सभी वोटरों, भाजपा कार्यकर्ताओं और भाजपा उम्मीदवार को जीत की बधाई भी दी है.

पहले केसीआर के खाते में थी सीट
इस सीट पर टीआरएस की प्रतिष्ठा भी दांव पर थी. दरअसल, यह सीट सीएम केसीआर की गजवेल सीट, उनके बेटे केटीआर की सिरसिल्ला सीट और भतीजे हरीश राव की सिद्धीपेट सीट के पास है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज