लाइव टीवी

त्रिची में BJP कार्यकर्ता की हत्या, पार्टी बोली- CAA समर्थन के कारण हुआ मर्डर

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 9:35 PM IST
त्रिची में BJP कार्यकर्ता की हत्या, पार्टी बोली- CAA समर्थन के कारण हुआ मर्डर
हत्या के तुरंत बाद, लगभग 30 भाजपा कार्यकर्ताओं ने त्रिची के महात्मा गांधी सरकारी अस्पताल के बाहर हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना दिया.

पुलिस के सूत्रों ने बताया कि इस कत्ल से जुड़े मिट्टई बाबू और चार लोगों की तलाश की जा रही है. सूत्रों ने कहा कि मिट्टई बाबू और रघु की बेटी एक-दूसरे के साथ रिश्ते में थे और बीजेपी नेता को ये मंजूर नहीं था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 9:35 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की 40 वर्षीय कार्यवाहक विजया रघु की सोमवार को त्रिची जिले के पलकराई में गांधी मार्केट गेट पर हत्या कर दी गई. पुलिस ने बताया कि रघु पर दरांती से हमला किया गया था. हत्या के तुरंत बाद, लगभग 30 भाजपा कार्यकर्ताओं ने त्रिची के महात्मा गांधी सरकारी अस्पताल के बाहर हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना दिया. बता दें इसी अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा था.

प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल जाने वाले मुख्य मार्गों को रोक दिया. इससे इलाके में भीड़भाड़ हो गई और इस भीड़ के कारण कई एम्बुलेंस भी फंसी रहीं.

अस्पताल सेवाएं हुईं प्रभावित
आंदोलन के दौरान अस्पताल में सेवाएं भी प्रभावित हुईं. पार्टी कार्यकर्ताओं ने अस्पताल प्रशासन और पुलिस अधिकारियों से मृतक को लेकर तत्काल प्रतिक्रिया देने की भी मांग की.

जब पुलिस ने भीड़ के चलते अस्पताल के मुख्य दरवाजे बंद कर दिए तो उनमें से कुछ ने जबरदस्ती वहां घुसने की भी कोशिश की. इसके बाद, हाथापाई शुरू हो गई जिस पर जल्द काबू पा लिया गया.

आरोपियों की तलाश जारी
पुलिस के सूत्रों ने बताया कि इस कत्ल से जुड़े मिट्टई बाबू और चार लोगों की तलाश की जा रही है. सूत्रों ने कहा कि मिट्टई बाबू और रघु की बेटी एक-दूसरे के साथ रिश्ते में थे और बीजेपी नेता को ये मंजूर नहीं था.अधिकारियों ने घटनास्थल से सीसीटीवी फुटेज एकत्र किए हैं और इससे जुड़ी जांच चल रही है. आरोपियों को पकड़ने के लिए चार विशेष टीमें बनाई गई हैं. हालांकि, राज्य भाजपा के उपाध्यक्ष सुब्रमण्यम ने कहा कि रघु की हत्या नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) का समर्थन करने के लिए की गई है.

उन्होंने कहा कि "वह हमेशा सीएए (CAA) समर्थक रैलियों के दौरान उत्साह से भागीदारी करते थे. शायद उनकी मौत उनकी गतिविधियों के प्रति असहिष्णुता के कारण हो सकती थी.” सुब्रमण्यम ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने में देरी के लिए पुलिस पर भी हमला किया.

ये भी पढ़ें-
आंध्र प्रदेश: विधानसभा ने विधानपरिषद को खत्म करने का प्रस्ताव पास किया

कोरोनावायरस: विजयन ने PM को पत्र लिख चीन से भारतीयों के एयरलिफ्ट की गुजारिश की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 9:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर