पश्चिम बंगाल: लोगों से माफी मांगते घूम रहे BJP वर्कर, कहा- ममता का कोई मेल नहीं, हमसे हो गई भूल

बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ता मांग रहे हैं माफी. (File pic)

West Bengal: बीजेपी (BJP) से वापस टीएमसी (TMC) में लौटे 300 कार्यकर्ताओं का कहना है, 'हम बीजेपी में गलती से चले गए थे. हम आज ही से टीएमसी ज्‍वाइन कर रहे हैं ताकि ममता बनर्जी के विकास कार्यों का समर्थन कर सकें.'

  • Share this:
    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में विधानसभा चुनाव के समय तृणमूल कांग्रेस (TMC) छोड़कर बीजेपी (BJP) में गए नेता अब पार्टी का वापस रुख कर रहे हैं. इसके साथ ही राज्‍य में बीजेपी कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव में उसका साथ देने के लिए पछतावा जता रहे हैं. हुगली जिले के धनियाखली से लेकर बीरभूम जिले के लाभपुर, बोलपुर और सैंथिया तक में बीजेपी के ये कार्यकर्ता अब ई-रिक्‍शा के ऊपर स्‍पीकर लगाकर घूम-घूमकर लोगों से कह रहे हैं कि उन्‍हें बीजेपी को समझने में गलती हो गई.

    हालांकि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी ने आरोप लगाया है कि उसके कार्यकर्ताओं को टीएमसी द्वारा धमकाया जा रहा है. ऐसे में बीजेपी के कार्यकर्ताओं की ओर से माफी मांगने का कारण यही है. इससे पहले बीजेपी में गए मुकुल रॉय शुक्रवार को वापस पार्टी में शामिल हो गए हैं. वहीं पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी ने भी विधानसभा चुनाव के पहले टीएमसी छोड़कर बीजेपी में गए थे. उन्‍होंने शनिवार को टीएमसी के राज्‍य के महासचिव कुणाल घोष से उनके आवास पर मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने टीएमसी में वापसी की इच्‍छा जताई है.

    हालांकि राजीव बनर्जी ने इसे शिष्‍टाचार भेंट बताया है. इसके साथ ही उन्‍होंने हाल ही में अपनी ओर से बीजेपी का विरोध करने के लिए किए गए सोशल मीडिया पोस्‍ट का बचाव किया है. बनर्जी ने कहा, 'मैं उत्‍तरी कोलकाता अपने रिश्‍तेदार से मिलने आया था. मेरे बड़े भाई और लंबे समय के दोस्‍त कुणाल घोष भी पास में ही मौजूद थे, मैंने उनको फोन किया और उनसे मुलाकात की. इस दौरान कोई भी रजनीतिक चर्चा नहीं हुई. मैंने कुछ मुद्दों पर बात की है. मैंने अपनी पार्टी को इनके बारे में पहले ही बता दिया है.

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी वर्कर अब जनसभाओं में भी टीएमसी से माफी मांग रहे हैं. बोलपुर के वार्ड 18 में हुई एक सार्वजनिक घोषणा में कहा गया, 'हमें बीजेपी की ओर से बहलाया-फुसलाया गया था. बीजेपी धोखेबाज पार्टी है. हमारे पास ममता बनर्जी का कोई मेल नहीं है. हम उनके विकास कार्यक्रमों का हिस्‍सा बनना चाहते हैं.'

    वहीं सैंथिया में बीजेपी से वापस टीएमसी में लौटे 300 कार्यकर्ताओं का कहना है, 'हम बीजेपी में गलती से चले गए थे. हम आज ही से टीएमसी ज्‍वाइन कर रहे हैं, ताकि ममता बनर्जी के विकास कार्यों का समर्थन कर सकें.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.