अब तेजस्वी सूर्या का बंगाल कूच, ममता बनर्जी के खिलाफ इन 7 मुद्दों पर खोलेंगे मोर्चा

भाजयुमो अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या  की फाइल फोटो
भाजयुमो अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या की फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Elections 2020) के लिए 8 महीने का वक्त बचा है. इससे पहले बीजेपी (BJP) ने भ्रष्टाचार और एसएससी/टीईटी भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता की कमी और बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरियों को सुनिश्चित करने सहित अन्य मुद्दों पर बंगाल सरकार पर निशाना साधते हुए सात सूत्री एजेंडा तैयार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 6:22 PM IST
  • Share this:
पायल मेहता


कोलकाता. भारतीय जनता पार्टी (BJP) की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के नवनियुक्त प्रमुख तेजस्वी सूर्या (Tejasvi Surya) गुरुवार को पश्चिम बंगाल (West bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamamta Banerjee) के विरोध में कार्यालय का घेराव करेंगे और 'नबना चलो' की अगुआई करेंगे. वह राज्य के युवाओं के लिए न्याय की मांग करेंगे. उनके साथ बंगाल युवा मोर्चा के प्रमुख सौमित्र खान भी शामिल होंगे. दोनों नेता गुरुवार को सुबह करीब 10 बजे हावड़ा से ममता बनर्जी के कार्यालय तक मार्च करेंगे.

युवा मोर्चा के अध्यक्ष के रूप में तेजस्वी की यह पहली विरोध रैली होगी. वह 15 दिन पहले ही पद पर नियुक्त किए गए हैं. बीजेपी ने भ्रष्टाचार और एसएससी/टीईटी भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता की कमी, बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरी सुनिश्चित करने में असमर्थता, विभिन्न परीक्षाओं के लिए ऊपरी आयु सीमा बढ़ाने में असफलता, पीएससी को भ्रष्टाचार से मुक्त करना और भर्ती प्रक्रिया को सरल बनाना सहित कई मुद्दों पर बंगाल सरकार पर निशाना साधते हुए सात सूत्री एजेंडा तैयार किया है.
तेजस्वी के एजेंडे में मनीष शुक्ला सहित भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने और उनकी हत्या करने के मुद्दे भी शामिल हैं. विधानसभा चुनाव के लिए फिलहाल 8 महीने का वक्त बाकी है और उससे पहले बीजेपी ने राज्य सरकार के खिलाफ हमले तेज कर दिए हैं.





'बंगाल के युवाओं के लिए खत्म हो रहे हैं मौके'
तेजस्वी ने CNN-News18 को बताया, 'ममता दीदी के कुशासन की वजह से बंगाल के युवाओं के लिए मौके खत्म हो रहे हैं. बंगाल की समृद्धता को फिर से हासिल करने के लिए बीजेपी राज्य में युवाओं की आवाज बन रही है.'

राज्य भर के अन्य प्रमुख स्थानों पर विरोध प्रदर्शन होंगे. संतरागाछी में राज्य के जनरल सेक्रेटरी शामिल होंगे, जिनमें सांसद लॉकेट चटर्जी, सायतन बसु, ज्योतिर्मय महतो मौजूद होंगे. इस बीच, भाजपा के राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय इस प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे. वहीं कोलकाता से प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष  आंदोलन की अगुआई करेंगे.

सार्वजनिक परिवहन और सीमित क्षमता के साथ चलने वाली बसों के बावजूद दो लाख के करीब लोगों को इन विरोध प्रदर्शनों का हिस्सा बनने की उम्मीद है. प्रत्येक मंडल को कार्यकर्ताओं को विरोध स्थल पर लाने के लिए 10 बसें तैनात करने का काम सौंपा गया है.

अक्टूबर में होनी है अमित शाह की रैली
तेजस्वी ने कहा, 'हमारे संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंगाल से थे. हम बंगाल के युवाओं के कर्जदार हैं. हम ममता दीदी के अत्याचारी शासन को खत्म कर बंगाल और उसके प्रतिभाशाली युवाओं के लिए एक नया रास्ता बनाएंगे.'

यह बात दीगर है कि यह रैली अक्टूबर  गृह मंत्री अमित शाह की बंगाल यात्रा से पहले की जा रही है. संभावना है कि शाह उत्तर बंगाल के सिलीगुड़ी में पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलेंगे और संबोधित करेंगे. इसके साथ ही वे आधिकारिक रूप से बंगाल में भाजपा के लिए अभियान शुरू करेंगे जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज