Assembly Banner 2021

बंगाल बीजेपी प्रमुख का विवादित बयान, कहा-TMC कार्यकर्ताओं को जूतों से पीटा जाएगा

भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष.

भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष.

भाजपा (BJP) की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) पुलिस के कर्मियों का एक समूह भाजपा के कार्यकर्ताओं को धमकी दे रहा है और इसमें शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2020, 9:25 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले ही भाजपा (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के बीच टकरार बढ़ती जा रही है. भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने रविवार को एक विवादित बयान देते हुए कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ दल के कार्यकर्ताओं को जूतों से पीटा जाएगा. इस पर तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बंदोपाध्याय ने उन्हें ऐसा करने की चुनौती दी. घोष ने आरोप लगाया कि राज्य पुलिस बल के कर्मियों का एक समूह उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को धमकी दे रहा है और इसमें शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा.

उन्होंने उत्तर 24 परगना जिले में पार्टी कार्यकर्ताओं के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा, तृणमूल कांग्रेस की 2021 के विधानसभा चुनावों में पराजय होगी. इसके बाद चौराहों पर इनके कार्यकर्ताओं को निर्वस्त्र कर जूतों से पीटा जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के नेता लोगों के बच्चों की शिक्षा का पैसा लूट रहे हैं. घोष ने कहा, कुछ पुलिसकर्मी सत्तारूढ़ पार्टी के इशारे पर काम कर रहे हैं. मैं अपनी डायरी में सब कुछ नोट कर रहा हूं. भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसा करने वाले लोगों के खिलाफ 2021 के चुनावों के बाद मामला दर्ज किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :- बंगाल के बीरभूम में TMC कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे पर फेंके बम, पुलिस बनी रही मूकदर्शक



उन्होंने दावा किया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति ध्वस्त हो चुकी है. उन्होंने कहा, हर सुबह, हमें हिंसा और हत्या की खबरें मिलती हैं. क्या इसलिए लोगों ने सरकार बदली थी? तृणमूल कांग्रेस ने ‘परिवर्तन’ का नारा दिया था और 2011 में पश्चिम बंगाल में माकपा के नेतृत्व वाले वाम मोर्चा के 34 साल के शासन को खत्म कर सत्ता में आई थी. घोष ने कहा, यह भाजपा है जो राज्य में बदलाव लाने के लिए लड़ रही है और 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी जान दी है. बंगाल में जब तक बदलाव नहीं आ जाता, तब तक लड़ाई जारी रहेगी.
इसे भी पढ़ें :- TMC नेता मदन मित्रा का गोपनीय तरीके से वीडियो बनाने के आरोप में तीन लोग गिरफ्तार

जूतों से पीटने के घोष के बयान पर आपत्ति जताते हुए तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बंदोपाध्याय ने उन्हें ऐसा करने की चुनौती दी. उन्होंने कहा, अगर उनमें हिम्मत है, तो पहले मुझे जूतों से पीट कर दिखाए, मैं उन्हें चुनौती देता हूं. उन्होंने भाजपा नेता को अशिक्षित और असभ्य बताया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज