Home /News /nation /

फिर शुरू होगा आंदोलन? राकेश टिकैत बोले- सिर्फ 4 महीने की छुट्टी पर गए हैं किसान

फिर शुरू होगा आंदोलन? राकेश टिकैत बोले- सिर्फ 4 महीने की छुट्टी पर गए हैं किसान

राकेश टिकैत जयपुर में 5वें सूरजमल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में भाग लेने पहुंचे थे.(फाइल फोटो)

राकेश टिकैत जयपुर में 5वें सूरजमल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में भाग लेने पहुंचे थे.(फाइल फोटो)

Rakesh Tikait, Farmers Protest, Agricultural Laws: राकेश टिकैत ने कहा कि 15 जनवरी को हमारी बैठक है और हम यह साफ कर देना चाहते हैं कि आंदोलन खत्म नहीं हुआ यह स्थगित हुआ है. किसान अभी सिर्फ 4 महीने की छुट्टी पर गए हैं. अगर सरकार ने हमारी मांगों को नहीं माना तो देश में एक बार फिर से आंदोलन खड़ा होगा. उन्होंने कहा कि सरकार ने सिर्फ तीन कृषि कानूनों को वापस लिया है हमारी दूसरी मांगों को अभी तक माना नहीं गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: विवादित तीन कृषि कानूनों (Agricultural Laws) की वापसी के बाद अब किसान अपने अपने घर को लौट गए हैं लेकिन इस बीच भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कृषि आंदोलने को लेकर बड़ी बात कही है. उन्होंने अगर सरकार किसानों की मांगों को पूरी तरह से नहीं मानती तो एक बार फिर से किसान आंदोलन खड़ा होगा. इतना ही नहीं उन्होंने एआईएमआईएम सांसद असुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) पर भी निशाना साधा. राकेश टिकैत जयपुर में 5वें सूरजमल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में भाग लेने पहुंचे थे.

    किसान नेता ने कहा कि किसान आंदोलन अभी खत्म नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि किसान कहीं नहीं गए हैं और ना सरकार कहीं गई है. टिकैत ने कहा कि अब किसान आंदोलन के लिए 13 महीने की ट्रेनिंग होगी. इसके साथ ही आंदोलन के बाद किसानों के मुद्दे पर एक्टिव रहने की वजह से आगामी विधानसभा चुनावों में भाग लेने की अटकलों पर उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा कोई चुनाव नहीं लड़ रहा है.

    यह भी पढ़ें- AIIMS के एक्सपर्ट ने बच्चों के टीकाकरण पर सरकार के फैसले को बताया ‘अवैज्ञानिक’, जानें क्या कुछ कहा

    राकेश टिकैत ने कहा कि 15 जनवरी को हमारी बैठक है और हम यह साफ कर देना चाहते हैं कि आंदोलन खत्म नहीं हुआ यह स्थगित हुआ है. किसान अभी सिर्फ 4 महीने की छुट्टी पर गए हैं. अगर सरकार ने हमारी मांगों को नहीं माना तो देश में एक बार फिर से आंदोलन खड़ा होगा. उन्होंने कहा कि सरकार ने सिर्फ तीन कृषि कानूनों को वापस लिया है हमारी दूसरी मांगों को अभी तक माना नहीं गया है, अगर सरकार ने समय पर हमारी मांगे पूरी नहीं की तो दोबार आंदोलन होगा.

    इससे पहले एक इंटरव्यू के दौरान भी राकेश टिकैत ने कहा था कि आंदोलन कोई खत्म करने वाली चीज नहीं है. इसे किसी के द्वारा खत्म नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि यह कोई चीच नहीं बल्कि यह एक बीज है और बीज कभी खत्म नहीं होता. अगर बीच खत्म हो जाएगा तो फसल ही पैदा नहीं होगी. एआईएमआईएम सांसद असुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए किसान नेता ने कहा कि यह तो भाजपा से ज्यादा देश के लिए खतरनाक है.

    Tags: Farmers Agitation, Kisan Andolan, Rakesh Tikait

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर