कृषि से जुड़े ‘काले कानून’ खाद्य सुरक्षा की व्यवस्था को नष्ट कर देंगे: राहुल

पटियाला मे प्रेस कांफ्रेंस करते हुए राहुल गांधी. (फोटो सौजन्य से सोशल मीडिया)
पटियाला मे प्रेस कांफ्रेंस करते हुए राहुल गांधी. (फोटो सौजन्य से सोशल मीडिया)

राहुल गांधी ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) इन कानूनों के जरिए अपने कुछ पूंजीपति मित्रों (Bourgeois friends) को फायदा पहुंचाना चाहते हैं. गांधी ने कहा, ‘ये जो तीनों कानून बनाए गए हैं, वो खाद्य सुरक्षा (food security) की मौजूदा व्यवस्था को नष्ट करने का प्रयास है’

  • Share this:
पटियाला. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि कृषि संबंधी तीनों ‘काले कानूनों’ से खाद्य सुरक्षा की व्यवस्था नष्ट हो जाएगी. उन्होंने यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन कानूनों के जरिए अपने कुछ पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाना चाहते हैं. गांधी ने कहा, ‘ये जो तीनों कानून बनाए गए हैं, वो खाद्य सुरक्षा की मौजूदा व्यवस्था को नष्ट करने का प्रयास है’

कांग्रेस नेता के मुताबिक, इन कानूनों से पंजाब और हरियाणा पर सबसे ज्यादा विपरीत असर होगा. उन्होंने कहा, ‘ पहले नोटबंदी की गई और जीएसटी लागू किया गया. इससे छोटे एवं मध्यम कारोबार नष्ट हो गए. सरकार ने कोई मदद नहीं की.’

यह भी पढ़ें: Coal Scam: कोयला घोटाले में अदालत ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को दोषी ठहराया



गांधी ने कहा, ‘देश में खाद्य सुरक्षा की एक व्यवस्था है. अगर यह टूट गई तो सिर्फ किसानों को नहीं, बल्कि सभी लोगों को नुकसान होगा.’

विपक्ष के कमजोर होने की धारणा से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा, ‘जब पूरे संस्थागत ढांचे को नियंत्रण में ले लिया गया है. तो ऐसे में यह कहना उचित नहीं है कि विपक्ष कमजोर है.’ उन्होंने दावा किया कि देश की आत्मा पर जबरन कब्जा कर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज