लाइव टीवी

महिला IAS ने चलाई बस, लोगों ने पूछा आपके पास लाइसेंस है या नहीं, मिला ये जवाब

News18Hindi
Updated: January 15, 2020, 4:51 PM IST
महिला IAS ने चलाई बस, लोगों ने पूछा आपके पास लाइसेंस है या नहीं, मिला ये जवाब
एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें BMTC की प्रबंध निदेशक सी शिखा की बस चलाती हुई दिख रही हैं. photo.Screengrab/Twitter

बेंगलुरु मेट्रोपोलिटिन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (BMTC) के स्टाफ में जहां 14000 ड्राइवर हैं, इनमें सिर्फ एक महिला ड्राइवर है. कहा जा रहा है कि BMTC की एमडी सी शिखा ने ये प्रयास महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए उठाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 4:51 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटिन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (BMTC) की प्रबंध निदेशक सी शिखा निरीक्षण के दौरान बस चलाने को लेकर चर्चा में है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें सी शिखा BMTC की बस चलाती हुई दिख रही हैं. जहां कुछ लोग उनके इस कदम की सराहना करते हुए इसे महिलाओं के लिए नजीर की तरह पेश कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सवाल उठा रहे हैं कि क्या उनके पास इसके लिए ड्राइविंग लाइसेंस है भी या नहीं.

ये मामला मंगलवार का है. शिखा ने एक ड्राइविंग सेंटर में बस चलाकर एक संदेश देने की कोशिश की. उनके इस कदम के पीछे की सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा महिलाएं आएं. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, ये पहली बार है जब भारतीय प्रशासनिक सेवा (Indian Administrative Service) की किसी महिला अधिकारी ने निरीक्षण के दौरान बस चलाई. उनके इस कदम पर कई कर्मचारियों ने खुशी जताई, वहीं BMTC के कई अधिकारियों ने उनकी तारीफ की.

BMTC की एमडी सी शिखा का ये वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर होते ही वायरल होने लगा. कई लोगों ने उनकी इस काम के लिए तारीफ की. वहीं कई लोगों ने कहा, यह कदम महिला सशक्तीकरण को बढ़ाने के लिए था.



हालांकि, कुछ लोग ऐसे भी थे, जिन्हें ये वीडियो परेशान करने वाला लग रहा था. उन्होंने शिकायत की थी कि शिखा बिना किसी भारी वाहन के ड्राइविंग लाइसेंस या अपेक्षित परमिट के चला रही थीं.



इस विवाद पर शिखा ने कहा, मैंने ड्राइविंग एक ड्राइविंग स्कूल के प्रांगण में की और इसके लिए किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं होती. कांग्रेस एमएलए प्रियंक खड़गे ने शिखा के इस कदम का ट्विटर पर बचाव किया. उन्होंने कहा, हम अजीब हैं. हम ड्राइविंग स्कूल में बस चलाने के लिए बीएमटीसी एमडी की आलोचना करते हैं. लेकिन हम राजनेताओं का सत्कार करते हैं जो जान को खतरे में डालते हैं. यकीन नहीं होता कि एमएलए के पास भारी वाहनों का लाइसेंस है. अगर उसके पास है भी, तो क्या वह एक सरकारी बस चला सकता है. क्या सरकार उसके खिलाफ केस दर्ज करेगी.



बेंगलुरु मेट्रोपोलिटिन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (BMTC) के स्टाफ में जहां 14000 ड्राइवर हैं, इनमें सिर्फ एक महिला ड्राइवर है.

यह भी पढ़ें...
दिग्विजय सिंह ने शेयर किया जाकिर नाइक का वीडियो, बीजेपी ने किया पलटवार

आर्मी डे पर सेना प्रमुख नरवणे बोले- कश्मीर से आर्टिकल 370 हटना ऐतिहासिक कदम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 4:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर