लाइव टीवी

दिल्ली: मौत की उलझी गुत्थी, मां का शव पंखे में लटका था, प्रोफेसर बेटे की बॉडी रेलवे पटरियों पर मिली

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 5:04 AM IST
दिल्ली: मौत की उलझी गुत्थी, मां का शव पंखे में लटका था, प्रोफेसर बेटे की बॉडी रेलवे पटरियों पर मिली
पुलिस के अनुसार उनके कुछ दोस्तों ने कहा कि स्टेनली के भीतर आत्मघाती प्रवृत्ति थी

पुलिस ने कहा कि सभी पहलुओं से मामले की जांच की जा रही है. पुलिस ने फ्लैट में उनकी मां का शव मिलने के बाद रानी बाग थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 5:04 AM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर (Delhi University professor) का सिर कटा शव रेल की पटरियों पर और उनकी मां का शव पीतमपुरा स्थित घर में पंखे से लटका हुआ मिला है. पुलिस ने रविवार को ये जानकारी दी. पुलिस ने कहा कि केरल के कोट्टायम के रहने वाले एलेन स्टेनली (27) का शव शनिवार को सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन की पटरियों पर मिला. इससे पहले उसी दिन उनकी मां लिसी (55) का शव आशियाना अपार्टमेंट में पंखे से लटका मिला था.

मां की हत्या कर आत्महत्या कर ली?
स्टेनली सेंट स्टीफेंस कॉलेज में अतिथि प्राध्यापक के तौर पर फिलॉसफी पढ़ाते थे और एक अन्य संस्थान से पीएचडी भी कर रहे थे. पुलिस को संदेह है कि स्टेनली ने अपनी मां की हत्या कर आत्महत्या कर ली. हालांकि स्टेनली के शव के साथ कोई सुसाइड नोट नहीं मिला, लेकिन उनके फ्लैट से मलयालम में लिखा एक नोट मिला है.

केस दर्ज

पुलिस ने कहा कि सभी पहलुओं से मामले की जांच की जा रही है. पुलिस ने फ्लैट में उनकी मां का शव मिलने के बाद रानी बाग थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

आत्महत्या के लिए उकसाया
मां-बेटे दोनों केरल में अपने खिलाफ लंबित आत्महत्या के लिये उकसाने के मामले को लेकर अवसादग्रस्त थे और अंतरिम जमानत पर थे. कुछ दिन पहले स्टेनली ने अपने दोस्तों को यह बात बताई थी, जिन्होंने उन्हें कोई भी घातक कदम नहीं उठाने के लिये कहा था. स्टेनली पांच साल से दिल्ली में रह रहे थे और उनकी मां सात महीने पहले उनके पास रहने आई थीं.
Loading...

पुलिस के अनुसार उनके कुछ दोस्तों ने कहा कि स्टेनली के भीतर आत्मघाती प्रवृत्ति थी और पांच दिन पहले उन्हें बताया कि उन्होंने अपनी मां को आत्महत्या के लिए मजबूर करने की कोशिश की थी लेकिन उन्होंने मना कर दिया था.

मौत की उलझी गुत्थी
दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्राध्यापक ने नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर कहा, "केरल की स्थानीय मीडिया में स्टेनली के मामले की केरल के सिलसिलेवार हत्याकांडों से तुलना करते हुए आलेख प्रकाशित किये गए थे. कुछ लोग उन्हें ट्रोल कर रहे थे और उनकी मां के खिलाफ महिला विरोधी टिप्पणियां की गई थीं." उन्होंने कहा, "हम अब भी नहीं जानते कि उनके साथ क्या हुआ. लेकिन इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए मीडिया ट्रायल जिम्मेदार है.

ये भी पढ़ें:

सीनियर अधिकारियों के सामने सिपाही ने मंत्री के छुए पैर

करतारपुर कॉरिडोर के औपचारिक उद्घाटन में शामिल नहीं होंगे मनमोहन सिंह: सूत्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 5:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...