Home /News /nation /

Jammu Kashmir: अगस्त में क्रैश हुआ था भारतीय वायुसेना का विमान, 76 दिन बाद मिला को पायलट का शव

Jammu Kashmir: अगस्त में क्रैश हुआ था भारतीय वायुसेना का विमान, 76 दिन बाद मिला को पायलट का शव

रेस्क्यू दल ने ढाई महीने बाद उनका शव झील से बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की है.

रेस्क्यू दल ने ढाई महीने बाद उनका शव झील से बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की है.

Jammu Kashmir Latest news: 3 अगस्त की सुबह सेना का हेलिकाप्टर रणजीत सागर बांध में क्रैश हो गया था. इसके बाद इसके दोनों पायलट लापता हो गए थे. हेलिकॉप्टर क्रैश होने के बाद 15 अगस्त को लेंफ्टिनेंट कर्नल एएस बाठ का शव रिकवर कर लिया गया था.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर के रणजीत सागर डैम में 3 अगस्त को दुर्घटनाग्रस्त हुए वायुसेना के हेलिकॉप्टर में सवार दूसरे पायलट का शव बरामद हो गया है. सेना द्वारा लगभग 76 दिन अभियान चलाए जाने के बाद पायलट के शव को बरामद किया गया है. जानकारी के मुताबिक शव को रविवार दोपहर करीब 2 बजे बाहर निकाला गया. ज्यादा समय बीत जाने के कारण शव की हालत बहुत खराब है. डैम से पायलट का शव बाहर निकालने के बाद पार्थिव शरीर को पठानकोट सेना अस्पताल में रखा गया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, पायलट के शव को जल्द ही परिवार को सौंपा जाएगा.

    जानकारी के लिए बता दें कि 3 अगस्त की सुबह सेना का हेलिकाप्टर रणजीत सागर बांध में क्रैश हो गया था. इसके बाद इसके दोनों पायलट लापता हो गए थे. हेलिकॉप्टर क्रैश होने के बाद 15 अगस्त को लेंफ्टिनेंट कर्नल एएस बाठ का शव रिकवर कर लिया गया था, लेकिन दूसरे कैप्टन जयंत जोशी के बारे में पता नहीं लग पा रहा था.

    रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि 3 अगस्त को रंजीत सागर बांध में दुर्घटनाग्रस्त हुए हेलीकॉप्टर के दूसरे पायलट कैप्टन जयंत जोशी के शव को निकालने के लिए दिन-रात 75 दिनों तक सेना और नौसेना द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे थे और आखिरकार उनका शव बरामद कर लिया गया है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर