अर्नब को तत्काल राहत नहीं, बॉम्बे HC ने अंतरिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा

अर्नब गोस्वामी. (फाइल फोटो)
अर्नब गोस्वामी. (फाइल फोटो)

बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. कोर्ट ने अर्नब को तत्काल राहत ना देते हुए शनिवार को फैसला सुरक्षित रख लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 10:12 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने आत्महत्या के लिये उकसाने के कथित मामले में गिरफ्तार रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के प्रधान संपादक अर्नब (Arnab Goswami) को तत्काल कोई राहत न देते हुए उनकी जमानत याचिका पर फैसला शनिवार को सुरक्षित रख लिया.

न्यायमूर्ति एस एस शिंदे और न्यायमूर्ति एम एस कार्णिक की पीठ ने दलीलें सुनने के बाद कहा कि वे जल्द ही आदेश पारित करेंगे. हालांकि उन्होंने कोई तारीख नहीं दी.

अदालत ने कहा, 'हम जल्द ही आदेश पारित करेंगे. इस मामले के लंबित होने से आरोपी व्यक्तियों को नियमित जमानत मांगने के लिये सत्र अदालत जाने से नहीं रोका जा रहा.'



महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले की अलीबाग पुलिस ने बकाया राशि का भुगतान नहीं होने पर इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां की आत्महत्या से संबंधित मामले में चार नवंबर को गिरफ्तार किया था.
बता दें कि मुंबई की रायगढ़ पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्नब गोस्वामी को बुधवार सुबह गिरफ्तार किया. इसके बाद अर्नब गोस्वामी की रायगढ़ जिले में अलीबाग की एक अदालत में पेशी हुई, जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें 18 तक यानी 14 दिन न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

हालांकि अर्नब के वकील ने बॉम्बे हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर की, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया.

इससे पहले बुधवार की सुबह मुंबई पुलिस अर्नब गोस्वामी को लोअर परेल स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया. पुलिस ने कहा धारा 306 और 34 के तहत गोस्वामी को गिरफ्तार किया. यह गिरफ्तारी 2018 में अन्वय नाइक और उनकी मां की आत्महत्या से जुड़े मामले में की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज