Home /News /nation /

आसमान से टैंकों को तबाह करेगी भारत की हेलिना मिसाइल, देखें सफल परीक्षण का वीडियो

आसमान से टैंकों को तबाह करेगी भारत की हेलिना मिसाइल, देखें सफल परीक्षण का वीडियो

सेना और IAF ने राजस्थान में HELINA एंटी टैंक मिसाइलों का किया सफलतापूर्वक परीक्षण (फोटो साभार- DRDO Video)

सेना और IAF ने राजस्थान में HELINA एंटी टैंक मिसाइलों का किया सफलतापूर्वक परीक्षण (फोटो साभार- DRDO Video)

HELINA Anti Tank Missiles: यह मिसाइल किसी भी समय टारगेट पर अटैक करने में सक्षम है. भारत-चीन तनाव और पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान की हरकतों के बीच यह परीक्षण काफी अहम माना जा रहा है.

    नई दिल्ली. भारतीय सेना और वायुसेना अपनी ताकत बढ़ाने के लिए तमाम नए हथियार और उपकरण अपने जखीरे में शामिल कर रही है. सेना और वायुसेना ने आज 4 HELINA एंटी टैंक मिसाइल का परीक्षण किया. हेलीकॉप्टर ध्रुव से इस मिसाइल का सटीक टेस्ट किया गया. राजस्थान के पोखरण में हुए परीक्षण में हेलिना मिसाइल अपने टारगेट पर हमला करने में 100 फीसदी सफल साबित हुई है. यह मिसाइल किसी भी समय टारगेट पर अटैक करने में सक्षम है. भारत-चीन तनाव और पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान की हरकतों के बीच यह परीक्षण काफी अहम माना जा रहा है.

    4 हेलिना एंटी-टैंक मिसाइलों का परीक्षण 7 किलोमीटर के न्‍यूनतम और अधिकतम रेंज में मिसाइल की क्षमता को आंकने के लिए किया गया था. सफल परीक्षण के बाद यह मिसाइल अब भारतीय सेना में शामिल होने के लिए तैयार है. ऐसा कहा जा रहा है कि इस एंटी-टैंक मिसाइल का कई दिनों से परीक्षण चल रहा था. आज इसका परीक्षण पूरा हुआ.  डीआरडीओ के अधिकारियों ने बताया कि इस परीक्षण में एक पुराने टैंक को टारगेट पर रखा गया था. मिसाइल का परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया गया. यह मिसाइल पूरी तरह से स्‍वदेशी है. इसे डीआरडीओ ने ही विकसित किया है.

    पलक झपकते ही दुश्मनों को खाक में मिलाने वाली मिसाइल ‘अस्त्र’ का परीक्षण करेगा भारत
    बता दें कि भारत एक ऐसी मिसाइल विकसित कर रहा है, जिससे भारतीय वायुसेना दुश्‍मन को हवा में 160 किलोमीटर की दूरी पर ही मार गिराएंगी और उसे संभलने का मौका भी नहीं मिलेगा. बेयॉन्ड विजुअल रेंज एयर-टू-एयर मिसाइल अस्त्र की गति इतनी तेज है कि संभलने से पहले ही दुश्‍मन खत्‍म हो जाएगा.

    भारत इस साल अस्‍त्र मार्क-2 मिसाइल का परीक्षण करेगा. हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अस्‍त्र की रफ्तार ध्‍वनि की गति से भी चार गुना तेज है. इस मिसाइल की रेंज 160 किलोमीटर है. जबकि ये मिसाइल बिजिबल रेंज से बाहर भी दुश्‍मन को आसानी से निशाना बन सकती है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई को वायुसेना के अधिकारियों ने बताया कि अस्‍त्र मिसाइल का परीक्षण इस समय के मध्‍य तक शुरू हो सकता है. परीक्षण सफल होने के बाद यह मिसाइल पूरी तरह से वर्ष 2022 के अंत तक भारतीय वायुसेना में ऑपरेशनल हो सकती है.

    Tags: Missile trial

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर