EXCLUSIVE: सीमा विवाद पर कभी राजनीति नहीं करनी चाहिए, चीन के साथ बातचीत जारी: राजनाथ सिंह

EXCLUSIVE: सीमा विवाद पर कभी राजनीति नहीं करनी चाहिए, चीन के साथ बातचीत जारी: राजनाथ सिंह
Defence Minister Rajnath Singh Exclusive Interview: नेपाल (Nepal) के साथ जारी तनातनी को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने कहा कि नेपाल को हम अपने छोटे भाई की तरह मानते हैं और एक घर में दो भाइयों के बीच लड़ाई होती रहती है लेकिन इसके चलते हम किसी से भी रिश्ते नहीं तोड़ सकते हैं.

Defence Minister Rajnath Singh Exclusive Interview: नेपाल (Nepal) के साथ जारी तनातनी को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने कहा कि नेपाल को हम अपने छोटे भाई की तरह मानते हैं और एक घर में दो भाइयों के बीच लड़ाई होती रहती है लेकिन इसके चलते हम किसी से भी रिश्ते नहीं तोड़ सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने चीन (China), नेपाल (Nepal) के साथ जारी सीमा विवाद और भी तमाम मुद्दों को लेकर न्यूज18 के साथ खास बातचीत की. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन को लेकर जारी सीमा विवाद (India China Land Dispute) पर कांग्रेस के रुख को लेकर कहा कि इस मामले पर राजनीति नहीं करनी चाहिए. सीमा सुरक्षा हर भारतवासी से जुड़ा हुआ मसला है. इस पर कोई प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सवाल जवाब नहीं किया जा सकता. राजनाथ सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ने पर हम साथ बैठकर बात भी तैयार करेंगे.  रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन के साथ हमारी बात चल रही है. हमारे पास चीन से मुद्दे सुलझाने का मेकेनिज्म है इसलिए हम उसी के हिसाब से मुद्दे सुलझाने के प्रयास में लगे हुए हैं.

नेपाल के साथ जारी तनातनी को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि नेपाल को हम अपने छोटे भाई की तरह मानते हैं और एक घर में दो भाइयों के बीच लड़ाई होती रहती है लेकिन इसके चलते हम किसी से भी रिश्ते नहीं तोड़ सकते हैं.

चीन को सीमा विवादों पर करना चाहिए विचार
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन के साथ जारी तनातनी पर कहा कि चीन के साथ लगभग हर साल ही सीमा पर तनातनी की खबर सामने आती है. कई बार हथियार छीनने जैसी भी घटनाएं सामने आई हैं. रक्षा मंत्री ने कहा कि मैं समझता हूं कि चीन को भी अब इस विषय में पूरी तरह से विचार करना चाहिए ताकि इस विवाद को पूरी तरह सुलझाया जा सके.



रक्षा मंत्री ने कहा कि हाल में जारी विवाद दोनों देशों की सीमाओं को लेकर है जिसमें कि भारत और चीन अपनी-अपनी सीमाओं को लेकर दावा कर रहे हैं. राजनाथ सिंह ने कहा कि अच्छी खासी संख्या में वहां चीन के लोग भी आ गए हैं लेकिन भारत ने भी अपनी ओर से जो कुछ भी करना चाहिए वह किया है. डोकलाम समस्या के समय पर भी भारत और चीन में सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बात हुई थी और समस्या का समाधान किया गया था और अब भी वही रणनीति अपनाई जा रही है.



पीओके भारत का हिस्सा
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पीओके को लेकर कहा कि भारत की संसद भी कई बार इस प्रस्ताव को पारित कर चुकी है कि पाक अधिकृत कश्मीर भारत में शामिल हो. पाक अधिकृत कश्मीर भारत का ही हिस्सा है. इस मामले पर हमें इंतजार करना चाहिए.

रक्षा मंत्री ने हाल ही में पुलवामा-2 की साजिश रचने के पाकिस्तान के मंसूबों को लेकर कहा कि ये हकीकत है कि पाकिस्तान अपनी हरकतों ने बाज नहीं आ रहा लेकिन हमारे जवान उसे मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं.

भारत को अस्थिर करने की कोशिश करने वालों को देंगे मुंहतोड़ जवाब
रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान लगातार सीजफायर उल्लंघन कर और आतंकियों को भेजकर भारत को अस्थिर करने की कोशिशों में लगा रहता है लेकिन हम उसे हमेशा करारा जवाब देते हैं. राजनाथ सिंह ने कहा कि दुनिया की कोई भी ताकत न तो भारत को अस्थिर कर सकती है न तोड़ सकती है और न ही कमजोर कर सकती है. जो भी ऐसा करने का प्रयास करेगा तो भारत उसे मुंहतोड़ जवाब देगा.

कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच पाकिस्तान के किसी भी तरह का फायदा उठाने के सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस एक वैश्विक बीमारी है और सभी देशों को मिलजुलकर इसका सामना करना चाहिए. रक्षा मंत्री ने कहा कि अगर कोरोना वायरस से बनी परिस्थिति का फायदा उठाकर कोई भारत को तोड़ना चाहेगा तो भारत उसे मुंहतोड़ जवाब देगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की आंतरिक सुरक्षा में सेंधमारी करने की पाकिस्तान लगातार कोशिश कर रहा है, आतंकवाद को भेजता है लेकिन हम उसे लगातार जवाब देते हैं. राजनाथ सिंह ने कहा भारत को बदनाम करने के लिए लोग उसकी छवि खराब करने की कोशिश करते हैं और इस्लामोफोबिया जैसी बातें उठातें हैं लेकिन मैं बता देना चाहता हूं कि भारत में पैदा हुआ हर धर्म का व्यक्ति भारतीय है और उसे किसी भी तरह से डरने की जरूरत नहीं है.

'किसी के सामने झुकने वाला नहीं भारत'
चीन के साथ विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत-चीन को लेकर दिए गए बयान पर कहा कि भारत चीन के साथ बातचीत कर रहा है और भारत किसी के सामने झुकने वाला नहीं है. राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत न किसी के सामने नतमस्तक हुआ है और न ही उसने किसी देश को ऐसा करने के लिए मजबूर किया है.

'भारत के फैसलों पर पाकिस्तान हो होनी चाहिए खुशी'
भारत के फैसलों पर पाकिस्तान के बौखलाने के सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान को भारत के फैसलों को लेकर खुश होना चाहिए कि उनके पड़ोस में कड़े फैसले लेने वाली मजबूत नेतृत्व वाली सरकार है.

आत्मनिर्भर भारत से जुड़े सवाल पर रक्षा मंत्री ने कहा कि लोगों को स्वदेशी अपनाना चाहिए. हमारी कोशिश यह हम सिर्फ आयात करने वाले देश न बनें बल्कि निर्यात करने वाले देश बनें.

'कांग्रेस को सवाल पूछने का अधिकार नहीं'
कांग्रेस को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि यदि कांग्रेस लोगों को हमसे मजदूरों की मदद करने के लिए कह रही है तो ऐसे में उसे खुद सोचना चाहिए कि उसने इतने सालों तक देश में सरकार चलाई तब भी देश में लोगों इतनी खराब हालत में क्यों हैं. कांग्रेस पार्टी ने लोगों को गरीबी में झोंका है. रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने कोरोना वायरस के दौरान गरीबों की मदद की और उन्हें मदद और खाद्यान्न की सुविधा मुहैया कराई.

भारत के मुसलमानों की नागरिकता पर कोई नहीं उठा सकता सवाल
सीएए और नागरिकता कानून को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि नागरिकता कानून को लेकर हमने घोषणा पत्र में कहा था इस लेकर कोई भी दो तरह की बात हमने नहीं की. रक्षा मंत्री ने कहा कि नागरिकता कानून को लेकर दुनिया में कोई भी भारत के मुसलमानों की नागरिकता पर सवालिया निशान नहीं लगा सकता है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि न ही लॉकडाउन को हमने जल्दी में लगाया न ही हम अनलॉक को जल्दबाजी में लाए हैं. हमने अनलॉक-1 को लेकर पूरी तैयारी की है.

ये भी पढ़ें-
EXCLUSIVE: PoK भारत का हिस्‍सा, अनुच्‍छेद 370 पर अंधेरे में नहीं रखा- राजनाथ

कैसे मैप बनाने के प्रयासों के बीच दुनिया की छत पर शुरू हुआ था भारत-चीन युद्ध
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading