लाइव टीवी

गुजरात में जन्मे इस बच्चे के जन्म प्रमाणपत्र पर लिख दिया पाकिस्तान, परिवार वाले परेशान

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 1:11 PM IST
गुजरात में जन्मे इस बच्चे के जन्म प्रमाणपत्र पर लिख दिया पाकिस्तान, परिवार वाले परेशान
सांकेतिक तस्वीर

जब परिवार ने जन्म प्रमाणपत्र (Birth Certificate) को ध्यान से देखा तो उसमें पते के साथ लिखा था- 'नियर पाकिस्तान रेलवे क्रॉसिंग'. यह देखकर वे परेशान हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 1:11 PM IST
  • Share this:
गांधी नगर. देश भर में इन दिनों नागरिकता कानून (CAA) को लेकर बवाल मचा है. कई जगह इसके खिलाफ धरना प्रदर्शन हो रहे हैं. लेकिन ऐसे माहौल में अगर किसी के बर्थ सर्टिफिकेट (Birth Certificate) पर अड्रेस में 'पाकिस्तान' लिखा हो तो क्या होगा? ज़ाहिर है परिवारवाले परेशान हो जाएंगे. ऐसा ही एक मामला गुजरात (Gujrat) से सामने आया है.

क्या है पाकिस्तान कनेक्शन
अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, ये बर्थ सर्टिफिकेट अहमदाबाद नगर निगम ने जारी किया है, जहां 18 महीने के एक बच्चे के बर्थ सर्टिफिकेट पर एड्रेस में लिखा है 'पाकिस्तान रेलवे क्रॉसिंग'. दरअसल जिस इलाके में यह बच्चा रहता है लोग इसे अनौपचारिक तौर 'पाकिस्तान क्रॉसिंग' कहते हैं. यहां दो हज़ार से ज्यादा मुस्लिम परिवार रहते हैं. इसे कई लोग छोटा पाकिस्तान भी कहते हैं. जबकि अधिकारिक तौर पर ये 'वसंत गजेंद्रगढ़ नगर ईडब्ल्यूएस हाउसिंग' है, जिसका नाम जनसंघ की गुजरात इकाई के पहले महासचिव के नाम पर रखा गया है. इतना ही नहीं यहां पास में ही सद्भावना नगर और कुशाभाऊ कॉलिनी को लोग हिंदुस्तान कहते. ऐसा इसलिए कि यहां रहने वाले ज्यादातर लोग हिंदू हैं.

पाकिस्तान रेलवे क्रॉसिंग?

बता दें कि 18 महीने के बच्चे मोहम्मद उज़ेर खान का जन्म 1 अक्टूबर, 2018 को हुआ था. ये परिवार रेलवे क्रॉसिंग के पास चार मंजिला सोसायटी में रहता है. बच्चे की दादी शालेहा बीबी पठान 3 फरवरी को सरकारी ऑफिस में बर्थ सर्टिफिकेट लेने गई थी. जब परिवार ने प्रमाण पत्र को ध्यान से देखा तो उसमें अड्रेस के साथ लिखा था- 'नियर पाकिस्तान रेलवे क्रॉसिंग'. यह देखकर वे परेशान हो गए.

अब क्या जाएगा ठीक
जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र विभाग के रजिस्ट्रार ऑफिस के इंचार्ज भाविन जोशी ने बताया कि बच्चे के पैरंट्स को ऑफिस बुलाया गया है, दस्तावेजों का सत्यापन करके इस गलती को ठीक किया जाएगा. बच्चे के परिवारवालों ने बताया कि CAA और NRC के चलते ये लोग सर्टिफिकेट लेने गए थे. उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि ऑफिस में इनकी कोई सुनने वाला नहीं था.

ये भी पढ़ें- अवैध पाकिस्तानी-बांग्लादेशी घुसपैठियों के खिलाफ आज मार्च निकालेंगे राज ठाकरे

वर्षों बाद खत्म हुई बरेली के 'झुमके' की तलाश, आखिरकार वो मिल ही गया...!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 12:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर