Home /News /nation /

दुख है कि अब तक राम मंदिर नहीं बन सका- उद्धव ठाकरे

दुख है कि अब तक राम मंदिर नहीं बन सका- उद्धव ठाकरे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा, 'राम मंदिर बनाओ नहीं तो हम मंदिर बनाएंगे. यह एक पवित्र काम है. अगर आप मंदिर नहीं बना सकते तो आपके (बीजेपी) डीएनए में कुछ गड़बड़ है.'

    शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे 25 नवंबर को अयोध्या के दौरे पर जाएंगे. ठाकरे ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के शिवाजी पार्क में शिवसेना की परंपरागत दशहरा रैली को संबोधित करते हुए यह ऐलान किया. उद्भव ठाकरे ने कहा, 'हम उन सबको चेतावनी दे रहे हैं जिन्हें लग रहा है कि हिंदुत्व मर रहा है. हम अभी जिंदा हैं. हम इस बात से दुखी हैं कि राम मंदिर का निर्माण अभी नहीं हो सका.'

    (ये भी पढ़ें: शिवसेना की बीजेपी को चेतावनीः राम मंदिर बनाओ वरना 'राम नाम...')

    उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर बीजेपी सरकार राम मंदिर का निर्माण नहीं करा रही है तो हम राम मंदिर का निर्माण कराएंगे. शिवसेना अध्यक्ष ने कहा, ''राम मंदिर बनाओ नहीं ती हम मंदिर बनाएंगे. यह एक पवित्र काम है. अगर आप मंदिर नहीं बना सकते तो आपके (बीजेपी) डीएनए में कुछ गड़बड़ है.'' ठाकरे ने कहा, ''शिवसेना ऐसे नहीं समझाती, कान के नीचे बजाकर समझाती है.''

    (ये भी पढ़ें- तीन तलाक की तरह ही राम मंदिर पर भी अध्यादेश लाए सरकार: शिवसेना)

    ठाकरे ने कहा, 'हमसे पूछा जाता है कि बीजेपी के साथ आपकी नहीं बन रही तो सरकार से क्यों बाहर नहीं होते? फिर आरएएस से क्यों नहीं पूछते कि वह बीजेपी के कामकाज से नाराज है, तो उन्हें सत्ता से बाहर क्यों नहीं करती?'

    #MeToo अभियान पर बोलते हुए शिवसेना प्रमुख ने कहा कि मी टू काफी गंभीर मुद्दा है. इन आरोपों की जांच होनी चाहिए और सजा होनी चाहिए. महिलाओं से कहना है कि अगर आपको कोई छेड़ रहा है तो आप उस व्यक्ति को वहीं थप्पड़ मारें.

    (ये भी पढ़ें: OPINION| राजनीतिक परिवारों में कैसे भतीजों पर भारी पड़ जाते हैं बेटे)

    Tags: BJP, Me Too, Ram Mandir Dispute, Shiv sena, Uddhav thackeray

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर