Home /News /nation /

तमिल ब्राह्मणों को शादी के लिए नहीं मिल रही दुल्हन, 40 हजार से अधिक युवा कुंवारे, जानें क्या है वजह

तमिल ब्राह्मणों को शादी के लिए नहीं मिल रही दुल्हन, 40 हजार से अधिक युवा कुंवारे, जानें क्या है वजह

 तमिलनाडु में तमिल ब्राह्मण दुल्हनों की बहुत कमी हो गयी है. Image-shutterstock.com

तमिलनाडु में तमिल ब्राह्मण दुल्हनों की बहुत कमी हो गयी है. Image-shutterstock.com

Tamil Brahmin Bachelors look brides in UP and Bihar: एसोसिएशन के मुताबिक, वो लखनऊ और पटना के लोगों के संपर्क मे है. नारायणन ने आगे बताया कि कई ब्राह्मण लोगों ने इस मुहिम का स्वागत किया है लेकिन कई के विचार इससे मेल नहीं खा रहे. शिक्षाविद् एम परमेश्वरन ने कहा कि, विवाह योग्य तमिल ब्राह्मण लड़कियां उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन लड़कों को दुल्हन नहीं मिल पाने का यही एकमात्र कारण नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    चेन्नई. तमिलनाडु में 40,000 से अधिक युवा तमिल ब्राह्मण (Tamil Brahmin) पुरुषों को राज्य के भीतर दुल्हन ढूंढना मुश्किल हो रहा है. दुल्हनों की तलाश में अब तमिल ब्राह्मण पुरुषों ने उत्तर प्रदेश और बिहार का रुख करना शुरू दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, तमिल ब्राह्मण पुरुषों के लिए दुल्हन खोजने के लिए संघ ने इन दो राज्यों में एक विशेष अभियान शुरू किया है. तमिलनाडु ब्राह्मण एसोसिएशन के अध्यक्ष एन नारायणन ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा, ‘हमने अपने विशेष अभियान शुरू किया है. कुछ आंकड़ों का हवाला देते हुए नारायणन ने कहा कि 30-40 साल के 40,000 से ज्यादा तमिल ब्राह्मण पुरुष शादी करने में असमर्थ हैं क्योंकि तमिलनाडु में दुल्हन नहीं मिल पा रही हैं. उन्होंने कहा कि, अगर विवाह योग्य 10 ब्राह्मण लड़के हैं तो इसके मुकाबले लड़कियां केवल 6 हैं.

    उन्होंने बताया कि तमिल ब्राह्मणों पुरुषों के लिए दुल्हन खोजने के लिए देश की राजधानी दिल्ली, लखनऊ और पटना में समन्वयक नियुक्त किए जाएंगे. इसमें वह लोग शामिल होंगे जो पढ़, लिख सकते हैं और हिंदी बोल सकते हैं. एसोसिएशन के मुताबिक, लखनऊ और पटना के लोगों के संपर्क मे हैं. नारायणन ने आगे बताया कि कई ब्राह्मण लोगों ने इस मुहिम का स्वागत किया है. लेकिन कई के विचार इससे मेल नहीं खा रहे थे.

    शिक्षाविद्, एम परमेश्वरन ने कहा कि, विवाह योग्य तमिल ब्राह्मण लड़कियां उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन लड़कों को दुल्हन नहीं मिल पाने का यही एकमात्र कारण नहीं है. उन्होंने बताया कि, लड़के के साइड से हमेशा धूमधाम और जोरो-शोरों से शादी की उम्मीद ही क्यों जाती है? लड़कों के माता-पिता क्यों चाहते हैं कि शादियां आलीशान मैरिज हॉल में ही क्यों हों? साधारण तरीके से भी तो शादी कराई जा सकती है.

    मंदिर या घर में शादी क्यों नहीं कराई जा सकती है? लड़की के परिवार वालों को शादी का बहुत खर्चा उठाना पड़ता है और यह एक तमिल समुदाय का अभिशाप है. परमेश्वरन ने कहा कि, समुदाय को प्रगति चुननी चाहिए न कि दिखावा.

    Tags: Bihar latest news, Tamil nadu, Tamilnadu, Tamilnadu news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर