Home /News /nation /

CDS बिपिन रावत का स्टाफ छोड़ डिविजन कमांड करने वाले थे ब्रिगेडियर लिड्डर, प्रमोशन हुई थी अप्रूव

CDS बिपिन रावत का स्टाफ छोड़ डिविजन कमांड करने वाले थे ब्रिगेडियर लिड्डर, प्रमोशन हुई थी अप्रूव

ब्रिगेडियर लखबिंदर सिंह लिड्डर और उनकी पत्नी की फाइल फोटो (तस्वीर-@Ra_THORe)

ब्रिगेडियर लखबिंदर सिंह लिड्डर और उनकी पत्नी की फाइल फोटो (तस्वीर-@Ra_THORe)

ब्रिगेडियर लखबिंदर सिंह लिड्डर (Brigadier Lakhbinder Singh Lidder) परिवार में दूसरी पीढ़ी के सेना अधिकारी थे. हरियाणा स्थित पंचकुला निवासी रहे लिड्डर पिछले एक साल से अधिक समय से CDS जनरल बिपिन रावत के स्टाफ में थे. सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर के बेटे, लिड्डर ने भी हिमाचल-तिब्बत सीमा पर एक ब्रिगेड की कमान संभाली थी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारतीय वायुसेना (Indian Airfroce) के हेलीकॉप्टर दुर्घटना ( Chopper Crash) में मारे गए लोगों में से एक ब्रिगेडियर लखबिंदर सिंह लिड्डर (Brigadier Lakhbinder Singh Lidder) परिवार में दूसरी पीढ़ी के सेना अधिकारी थे. हरियाणा स्थित पंचकुला निवासी रहे लिड्डर पिछले एक साल से अधिक समय से जनरल बिपिन रावत के स्टाफ में थे. उन्होंने जम्मू-कश्मीर राइफल्स की दूसरी बटालियन की कमान संभाली थी. ब्रिगेडियर लिड्डर जल्द ही जनरल रावत का स्टाफ छोड़कर एक डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग के रूप में सेवाएं देने वाले थे. उन्हें मेजर जनरल रैंक के पद प्रमोट किए जाने की अनुमति मिल गई थी. सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर के बेटे, लिड्डर ने भी हिमाचल-तिब्बत सीमा पर एक ब्रिगेड की कमान संभाली थी. उन्होंने राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज, नई दिल्ली में पढ़ाई भी की थी. लिड्डर अक्सर सैन्य मामलों पर लिखते थे.

    दोस्तों के बीच टोनी नाम से प्रसिद्ध लिड्डर की शादी गीतिका से हुई थी. वह पेशे से टीचर हैं. बीते  28 नवंबर को लिड्डर दंपति ने 12 वीं कक्षा में पढ़ाई कर रही 16 वर्षीय बेटी की एक किताब लॉन्च होने का जश्न मनाया था.  स्व. CDS बिपिन रावत की पत्नी स्व. मधुलिका रावत और पुडुचेरी की पूर्व राज्यपाल किरण बेदी द्वारा ‘इन सर्च ऑफ ए टाइटल’ का विमोचन किया गया था.

    यह भी पढ़ें: CDS बिपिन रावत का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा दिल्ली, रक्षामंत्री संसद में देंगे बयान, पढ़ें बड़े अपडेट्स

    रावत के इन स्टाफ मेंबर्स का भी हुआ निधन
    जनरल रावत के स्टाफ के एक अन्य अधिकारी, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, 11 गोरखा राइफल्स के थे. उन्होंने सियाचिन ग्लेशियर पर तैनाती और संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में कार्यकाल सहित अपनी बटालियन के साथ विभिन्न अभियानों में काम किया था. वह मूल रूप से लखनऊ के रहने वाले थे लेकिन परिवार बाद में नई दिल्ली रहता था. दुर्घटना में दो अधिकारियों के अलावा स्पेशल फोर्स के पांच पीएसओ और जनरल रावत के स्टाफ पर 11 गोरखा राइफल्स के एक हवलदार का भी निधन हो गया.

    पिछले तीन साल से जनरल रावत के साथ रहे 35 वर्षीय नायक गुरसेवक सिंह की भी हादसे में मौत हो गई. वह पंजाब के तरनतारन जिले के डोडे गांव के रहने वाले थे. अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार गुरसेवक के भाई गुरबख्श सिंह ने कहा ‘हमने सपने में भी इसके बारे में नहीं सोचा था. उन्होंने कल रात हमसे बात की और आज वह नहीं रहे.’

    Tags: Cds bipin rawat, Indian Airforce, Indian army, Tamilnadu

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर