बहन की मौत के बाद बीमार भाई बिस्तर से भी नहीं उठ सका, भूख-प्यास से हुई मौत

दिल्ली के भारत नगर इलाके में 80 वर्षीय बहन के गुजर जाने के बाद 95 साल का बीमार भाई बिस्तर से उठ भी नहीं सका और भूख-प्यास से उसकी भी मौत हो गई.

News18Hindi
Updated: June 14, 2019, 9:41 AM IST
बहन की मौत के बाद बीमार भाई बिस्तर से भी नहीं उठ सका, भूख-प्यास से हुई मौत
बहन की मौत के बाद बीमार भाई बिस्तर से भी नहीं उठ सका, भूख-प्यास से हुई मौत
News18Hindi
Updated: June 14, 2019, 9:41 AM IST
दिल्ली पुलिस भले ही घर में अकेले रह रहे बुजुर्गों की खोज-खबर लेने का दंभ भरती हो, लेकिन सच्चाई उससे बिल्कुल उलट है. दिल्ली के भारत नगर इलाके में 80 वर्षीय बहन के गुजर जाने के बाद 95 साल का बीमार भाई बिस्तर से उठ भी नहीं सका और भूख-प्यास से उसकी भी मौत हो गई. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर भाई-बहन के शव को बाहर निकाला.

जानकारी के मुताबिक, 95 साल के चमनलाल अपनी 80 वर्षीय बहन राजकुमारी देवी के साथ राणा प्रताप बाग इलाके में रहते थे. कुछ समय पहले ही चमनलाल लकवे का शिकार हो गए थे. घर का सारा कामकाज राजकुमारी देवी ही किया करती थीं. पड़ोसियों के मुताबिक राजकुमारी को अक्सर दूध लेते हुए देखा जाता था, लेकिन उनके साथ कोई बात भी नहीं करता था.



चमनलाल के पड़ोसी ने बताया कि पुश्तैनी कोठी होने की वजह से भाई-बहन ने कभी घर नहीं छोड़ा. 1957 में बनी कोठी से दोनों को गहरा लगाव था. चमन लाल जीवन बीमा निगम से रिटायर थे और राजकुमारी शिक्षिका थीं. चमन लाल के भाई जीवन लाल आनंद विहार में अपने परिवार के साथ रहते थे.

इसे भी पढ़ें :- 70 की उम्र में 35 साल की महिला से की थी शादी, झगड़े के बाद पत्नी को मारकर की खुदकुशी

बताया जाता है कि पिछले कुछ दिनों से राजकुमारी दूध लेने के लिए नहीं निकली थीं. एक-दो दिन से पड़ोसियों को उनके घर से बदबू आ रही थी. पड़ोसियों की शिकायत पर जब पुलिस ने आकर घर का दरवाजा तोड़ा तो राजकुमारी देवी और चमनलाल मृत पाए गए. शुरुआती जांच में पता चला है कि राजकुमारी देवी की चार-पांच दिन पहले ही मौत हो गई थी, जिसके बाद से चमनलाल को खाना और पानी नहीं मिला. लकवे के कारण चमनलाल अपने बिस्तर से हिल भी नहीं पाते थे. गर्मी की वजह से उनकी भी दो दिन पहले मौत हो गई. पुलिस जब कमरे के अंदर पहुंची तो पंखा चल रहा था और मोबाइल चार्जिंग मोड पर लगा हुआ था.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...