Home /News /nation /

बेंगलुरु: 6 महीने से नहीं मिली थी सैलरी, तो स्वीपर ने कर ली खुदकुशी

बेंगलुरु: 6 महीने से नहीं मिली थी सैलरी, तो स्वीपर ने कर ली खुदकुशी

प्रतीकात्मक फोटो- PTI

प्रतीकात्मक फोटो- PTI

बेंगलुरू में करीब 18,000 स्वीपर हैं. उनमें से 2,000 जिन्हें अतिरिक्त मजदूर कहा जाता है बीबीएमपी ने उनके वेतन को रोक दिया है. सुब्रमणी उनमें से एक थे. उनकी दो बेटियां थीं. उन्हें खिलाने के लिए, उन्होंने उधार लिया था.

    बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) में काम करने वाले सफाई कर्मी ने कथित तौर पर 6 महीने से तनख्वाह ना मिलने के कारण आत्महत्या कर ली. उसके साथ काम करने वालों ने बताया कि 40 वर्षीय सुब्रमणी बतौर 'पौरा कार्मिक' (स्वीपर) 15 साल से ज्यादा समय से काम कर रहे हैं.

    खबरों के अनुसार गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहे महानगर पालिका सुब्रमणी के साथ-साथ कई और सैकड़ों लोगों की सैलरी नहीं दे पाया. BBMP पौरा कार्मिक संघ के अध्यक्ष ओबलप्पा ने News18 को बताया सुब्रमणी सरीखे 2,000 कर्मियों को सैलरी नहीं दी गई है.

    बीबीएमपी ने अतिरिक्त मजदूर कहे जाने वाले इन 2,000 कर्मियों का वेतन रोक दिया है. सुब्रमणी उनमें से एक थे. उनकी दो बेटियां थीं, जिनका पेट भरने के लिए उन्होंने काफी उधार ले रखा था. ओबलप्पा ने कहा, लेनदार उन्हें परेशान कर रहे थे. ऐसे में खुद को बेबस पाकर उन्होंने अपना जीवन समाप्त कर दिया. यह एक सरकार प्रायोजित हत्या है. हम संबंधित अधिकारियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते हैं. उन पर हत्या का आरोप लगाया जाना चाहिए.'

    बेइमानी से रुपया निकलने के लिए 'घोस्ट स्वीपर' बनाने के लिए कुख्यात BBMP ने ठेकेदारों के माध्यम से वेतन का भुगतान करने की प्रणाली समाप्त कर दी और जनवरी में वेतन के बायोमेट्रिक और आधार से जुड़े बैंक ट्रांसफर की शुरुआत की. ट्रेड यूनियनों का दावा है कि नए सिस्टम में स्वीपर्स के लिए कई चीजें जटिल हैं.

    यह भी पढ़ें: बेंगलुरु में ट्रैफिक से लड़ने का नया प्रस्‍ताव- पार्किंग की जगह नहीं तो भूल जाओ कार

    बीबीएमपी कर्मचारियों के एसोसिएशन के मुताबिक, इस पहल से पहले 35,000 स्वीपर थे, अब यह संख्या 18,000 हो गई है. अतिरिक्त के रूप में वर्गीकृत स्वीपर महीने पहले आधार और बॉयोमेट्रिक विवरण देने के लिए लेकिन उनके वेतन का भुगतान नहीं किया गया. ओबलप्पा ने आरोप लगाया कि बीबीएमपी के अधिकारियों ने वेतन जारी करने के लिए रिश्वत की मांग की और सुब्रमणी ने उन्हें भुगतान करने से इनकार कर दिया.

    उन्होंने कहा BBMP के अधिकारी सैलरी देने के लिए एक स्वीपर से 500 से 1000 रुपए तक लेते हैं. अगर वह ऐसा करने से मना करते हैं तो सैलरी रोक ली जाती है. हमारी मांग है कि अधिकारियों पर हत्या का आरोप लगाकर उन्हें अरेस्ट किया जाए. सुब्रमणी ने इससे पहले आत्महत्या करने की धमकी दी थी लेकिन उन्होंने उसे परेशान किया और कहा कि अगर हिम्मत हो तो खुद को मार कर दिखाए.

    ओबलप्पा ने कहा, स्वीरपर को प्रति माह को 17,500 रुपए की फिक्स सैलरी मिलती है. बेंगलुरू के मेयर संपथराज ने कहा कि वह उन अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे जो सुब्रमणी की मौत के जिम्मेवार हैं.

    यह भी पढ़ें: बेंगलुरु : ट्यूशन जाने के लिए घर से निकले एक ही स्कूल के 6 छात्र लापता

    Tags: Bengaluru, Karnataka

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर