दुष्कर्म की शिकार बच्ची की आंत फटी, डॉक्टर ने बंद किए प्राइवेट पार्ट्स

दुष्कर्म की शिकार मासूम अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. बच्ची के साथ इस हद तक बर्बरता की गई है कि उसकी आंत तक फट गई है. इंफेक्शन के डर से डॉक्टरों ने उसके दोनों प्राइवेट पार्ट्स को बंद कर दिया है.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 9:13 AM IST
दुष्कर्म की शिकार बच्ची की आंत फटी, डॉक्टर ने बंद किए प्राइवेट पार्ट्स
सांकेतिक फोटो.
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 9:13 AM IST
मैं पीड़ित बच्ची से रोज आते-जाते बातचीत करता था. उस रोज भी मैंने बच्ची से बातचीत की. उससे पूछा फ्रूटी पियोगी. उसने हां कर दी और मैं उसे लेकर चल दिया. उस दिन मैंने रोज के मुकाबले कुछ ज्यादा ही शराब पी रखी थी. मैं उसे झाड़ियों में ले गया. उसके बाद क्या हुआ मुझे कुछ याद नहीं है. पुलिस के अनुसार ये बयान उस आरोपी के हैं, जिसे 6 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म के आरोप में पकड़ा गया है.

दैनिक क्रिया के लिए अलग से डाली टयूब
दुष्कर्म के बाद से मासूम अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. बच्ची के साथ इस हद तक बर्बरता की गई है कि उसकी आंत तक फट गई है. इंफेक्शन के डर से डॉक्टरों ने उसके दोनों प्राइवेट पार्ट्स को बंद कर दिया है. पेट के रास्ते एक अलग टयूब डाली गई है. शरीर पर दांत से काटे जाने के भी निशान हैं. डॉक्टरों का कहना है कि ऊपरी जख्म तो शायद कुछ दिन में भर जाएंगे, लेकिन अंदरूनी जख्मों को भरने में कम से कम 3 से 4 महीने तक लग सकते हैं.

दिल्ली के द्वारका की है दिल दहलाने वाली ये घटना

6 साल की मासूम को हवस का शिकार बनाने वाली ये घटना द्वारका क्षेत्र की है. घटना को अंजाम देने वाला बच्ची का परिचित ही है. उसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आरोपी को बच्ची चेहरे से पहचानती थी इसलिए उसके साथ चल दी. रास्ते और पड़ोस में भी किसी ने इसलिए टोका-टोकी नहीं की कि दोनों ही मोहल्ले के थे.

आरोपी को भेजा तिहाड़
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर चुकी है. आरोपी अपने जुर्म को कबूल भी कर चुका है. वह शराब का आदी बताया गया है. पुलिस ने उसे तिहाड़ जेल भेज दिया था. जहां से उसे पुलिस रिमांड पर दिया गया है.
Loading...

मासूम के होंगे अभी कई ऑपरेशन
पीड़ित बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि शुरुआती इलाज से अभी बच्ची को राहत दी गई है. वह बात कर रही है. दोनों प्राइवेट पार्ट को बंद कर टयूब् के सहारे दैनिक क्रिया कराई जा रही है. लेकिन इंफेंक्शन फैलने की संभावना खत्म होने के बाद टयूट को हटाकर पहले की तरह से प्राइवेट पार्ट के सहारे ही दैनिक क्रिया कराई जाएगी. इसके लिए कई ऑपरेशन करने होंगे.

पुलिस के पहरे में है पीड़ित बच्ची
मासूम को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मासूम जिस वार्ड में भर्ती है उसे पुलिस के सख्त पहरे में रखा गया है. वार्ड के आसपास किसी को भी खड़े होने तक की अनुमति नहीं है. अस्पताल के कर्मचारी भी पहचान बताने के बाद ही दाखिल हो रहे हैं. किसी भी अनजान को जाने नहीं दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- 
अमेठी-अलवर सहित मोदी सरकार का देश को 5 सैनिक स्कूल का तोहफा

मॉब लिंचिंग के शिकार हुए लोगों में आधे से ज्यादा गैर-मुस्लिम

जमीयत-उलेमा-हिंद के अध्यक्ष ने कहा, देश के मौजूदा हालात बंटवारे से ज्यादा खतरनाक!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 8:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...