कर्नाटक: सरकार बचाने के लिए येडियुरप्पा ने बनाए 3 डिप्टी CM, मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा

पहली बार कर्नाटक (Karnataka) में तीन उपमुख्यमंत्री (Deputy Chief Minister) होंगे. मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने लक्ष्मण सावदी, गोविंद एम करजोल और अश्वथ नारायण को डिप्टी सीएम बनाया है. लक्ष्मण सावदी फिलहाल ना विधायक हैं और ना ही वह विधान परिषद के सदस्य हैं.

भाषा
Updated: August 27, 2019, 12:57 PM IST
कर्नाटक: सरकार बचाने के लिए येडियुरप्पा ने बनाए 3 डिप्टी CM, मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा
कर्नाटक के सीएम बीएस येडियुरप्पा
भाषा
Updated: August 27, 2019, 12:57 PM IST
पहली बार कर्नाटक (Karnataka) में तीन उपमुख्यमंत्री (Deputy Chief Minister) होंगे. मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने 17 नवनियुक्त मंत्रियों को सोमवार को विभागों की जिम्मेदारी सौंपी. इन मंत्रियों को करीब एक सप्ताह पहले कैबिनेट में शामिल किया गया था. येडियुरप्पा ने लक्ष्मण सावदी, गोविंद एम करजोल और अश्वथ नारायण को डिप्टी सीएम बनाया है.

इनमें से गोविंद करजोल (Govind Karjol) को पीडब्ल्यूडी और समाज कल्याण, अश्वत्थ नारायण को उच्च शिक्षा, आईटी और बीटी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी का प्रभार दिया गया है. वहीं, बसवराज बोम्मई (Basawraj Bommai) को गृह विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गयी है. जबकि, लक्ष्मण सावदी को परिवहन विभाग का प्रभार दिया गया है. लक्ष्मण सावदी फिलहाल ना विधायक हैं और ना ही वह विधान परिषद के सदस्य हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार (Jagdish Shettar) को बड़े और मध्यम स्तरीय उद्योग का मंत्रालय, दो पूर्व उप मुख्यमंत्री-के एस ईश्वरप्पा और आर अशोक को क्रमश: ग्रामीण विकास और पंचायती राज, तथा राजस्व विभाग का प्रभार दिया गया है. वरिष्ठ नेता बी श्रीरामुलू को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री बनाया गया है जबकि एस सुरेश कुमार को प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग का कार्यभार दिया गया है.



इन नेताओं को भी मिला प्रभार
अन्य मंत्रियों में वी सोमन्ना (आवास), सी टी रवि (पर्यटन, कन्नड़ और संस्कृति), बसवराज बोम्मई (गृह), कोटा श्रीनिवार पुजारी (मत्स्य, बंदरगाह और इनलैंड ट्रांसपोर्ट), जे सी मधुस्वामी (कानून, संसदीय मामले और लघु सिंचाई) शामिल हैं .

सीसी पाटिल को खान और भूगर्भ, एच नागेश को आबकारी, प्रभु चव्हाण को पशुपालन और शशिकला जोले को महिला और बाल विकास मंत्रालय का प्रभार दिया गया है .
Loading...

रोचक है कि उपमुख्यमंत्री बनाए गए सावदी ना तो विधानसभा के सदस्य हैं ना ही विधानपरिषद के. कैबिनेट में उनको शामिल करने के कारण भाजपा के कुछ वरिष्ठ विधायकों के बीच असंतोष है.

सिद्धारमैया ने बनाया था मज़ाक
इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेस नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने दावा किया था कि भाजपा बगावत से जूझ रही है जिस कारण मंत्रिमंडल विस्तार के पांच दिन बाद भी विभागों का बंटवारा नहीं किया जा सका है और पार्टी आलाकमान भी येडियुरप्पा को कोई भाव नहीं दे रहा है.

उन्होंने कहा था कि जो कुछ हुआ है, वह यह है कि येडियुरप्पा भाजपा आलाकमान के लिए अवांछित हो गये हैं. एक तरफ तो असंतुष्ट विधायक हैं जो भाजपा के पास गये हैं. वे उन्हे धमकी दे रहे हैं. दूसरी तरफ, भाजपा के अंदर भी कई असंतुष्ट विधायक हैं और इसलिए विभागों का बंटवारा नहीं हो रहा है.

ये भी पढ़ें-
कश्मीर के बाद अब नक्सलियों पर शाह की नजर, बनाया मास्टरप्लान

'आंध्र प्रदेश में 4 राजधानी बनाना चाहते हैं CM जगनमोहन'

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 10:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...