येदियुरप्पा हमारे नेता हैं, वह कार्यकाल पूरा करेंगे: डिप्टी CM सावदी

येदियुरप्पा हमारे नेता हैं, वह कार्यकाल पूरा करेंगे: डिप्टी CM सावदी
येडियुरप्पा की कुर्सी पर संकट होने के कयास लगाए जा रहे थे (फाइल फोटो)

कर्नाटक (Karnataka) के उपमुख्यमंत्री (Deputy CM) लक्ष्मण सावदी ने कहा, ‘‘हम सभी के लिए येडियुरप्पा (Yediyurappa) हमारे नेता है और भरोसे के साथ मैं कह रहा हूं कि अगले तीन साल के लिए येडियुरप्पा हमारे राज्य के मुख्यमंत्री रहेंगे.’’

  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) के उपमुख्यमंत्री (Deputy CM) लक्ष्मण सावदी ने बुधवार को कहा कि मुख्यमंत्री बी एस येडियुरप्पा (CM BS Yediyurappa) हमारे नेता हैं और वह अपना तीन साल का कार्यकाल (Tenure) पूरा करेंगे. उनका यह बयान तब आया है जब कर्नाटक में भाजपा सरकार (BJP Government) के एक साल पूरे होने पर नई दिल्ली के उनके दौरे से नेतृत्व में बदलाव को लेकर कयास लगने लगे. उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया (Social Media) पर कुछ पोस्ट में उन्हें अगला मुख्यमंत्री (CM) बताया जिससे विवाद पैदा हो गया. सावदी ने स्पष्टीकरण दिया कि यह एक आधिकारिक दौरा था.

उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी के लिए येडियुरप्पा (Yediyurappa) हमारे नेता है और भरोसे के साथ मैं कह रहा हूं कि अगले तीन साल के लिए येडियुरप्पा हमारे राज्य के मुख्यमंत्री रहेंगे.’’ नई दिल्ली (New Delhi) में पत्रकारों से बातचीत में सावदी ने कहा कि उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) समेत राष्ट्रीय नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान किसी राजनीतिक घटनाक्रम (Political events) पर कोई चर्चा नहीं की. उपमुख्यमंत्री (Deputy CM) ने कहा, ‘‘हमारी सरकार का तीन साल से अधिक कार्यकाल है, तीन साल का कार्यकाल पूरा होने तक येडियुरप्पा मुख्यमंत्री रहेंगे.’’

अगस्त में मंत्रिमंडल विस्तार पर विचार कर रहे हैं येडियुरप्पा
कुछ खबरों के अनुसार पिछले साल जुलाई में कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार गिरने के बाद सरकार गठन के मद्देनजर भाजपा नेता ने 78 वर्षीय लिंगायत नेता को बता दिया था कि उन्हें एक साल के बाद अपनी उम्र और दूसरे नेताओं को जगह देने के लिए पद छोड़ना पड़ सकता है. खबरों में दावा किया गया है कि इसके बदले में येडियुरप्पा को राज्यपाल का पद और उनके छोटे बेटे बी वाई विजयेंद्र को अहम पद मिल सकता है.
पार्टी में कुछ नेता येडियुरप्पा के हाल ही में पार्टी के 200 विधायकों को बोर्डों तथा निगमों में नियुक्त करने के कदम को उन विधायकों को शांत रखने की कोशिश के तौर पर देखते हैं जो उनसे नाखुश हैं. येडियुरप्पा अगस्त में अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करने पर विचार कर रहे हैं और मंत्री पद के लिए कई दावेदार हैं.



कांग्रेस और JDS छोड़कर आये नेता भी चाह रहे मंत्री पद
पार्टी के कई पुराने नेता मंत्रिमंडल में शामिल होने की बाट जोह रहे हैं तो कांग्रेस और जद(एस) छोड़कर आए नेता भी मंत्री पद की चाह रख रहे हैं. पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा, ‘‘शायद कुछ भांपते हुए ही येडियुरप्पा ने विधायकों को खुश रखने के लिए बोर्डों और निगमों में नियुक्तियां की क्योंकि उनके जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार करने की भी संभावना है.’’

उपमुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी के आलाकमान की पसंद रहे सावदी के दिल्ली जाने और वहां पार्टी नेताओं से मुलाकात करने से एक बार फिर नेतृत्व में बदलाव की अटकलों को हवा दे दी है. उपमुख्यमंत्री पद पर उनकी नियुक्ति ने प्रदेश भाजपा में कई लोगों को हैरत में डाल दिया था क्योंकि उस समय न तो वह विधायक थे और न ही पार्षद.

पार्टी नेता ने खारिज की सावदी को अगला CM बनाए जाने की अटकल
इस कदम को येडियुरप्पा के बाद राज्य में कोई नेता लाने की आलाकमान की कोशिश के तौर पर देखा गया क्योंकि सावदी भी लिंगायत समुदाय से आते हैं जिसे पार्टी अपना गढ़ मानती है. बहरहाल पार्टी के एक अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी ने बताया कि सावदी अगले मंत्रिमंडल विस्तार में अपने आप को हटाए जाने से बचाने के लिए दिल्ली गए होंगे.

सावदी को अगला मुख्यमंत्री बनाए जाने की अटकलों को खारिज करते हुए पार्टी नेता ने कहा, ‘‘ऐसे वक्त में जब राज्य में महामारी का प्रकोप चरम पर है तो मेरे हिसाब से नेतृत्व में बदलाव की संभावना नहीं है, साथ ही प्लान बी भी है कि येडियुरप्पा के बाद राज्य भाजपा में अगला कद्दावर नेता कौन होगा जो सभी धड़ों को साथ लेकर चल सकें और लिंगायतों का समर्थन हासिल कर सके.’’

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान ने ‘संघर्ष विराम उल्लंघन’ के मामले में वरिष्ठ भारतीय राजनयिक को तलब

इस बीच ऐसी भी खबरें हैं कि उत्तर कर्नाटक के पार्टी विधायकों का एक धड़ा येडियुरप्पा के वारिस के तौर पर केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रह्लाद जोशी (ब्राह्मण) के नाम की सिफारिश कर रहे हैं. पार्टी सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल विस्तार में बाहर का रास्ता दिखाए जाने के डर से कई मंत्री दिल्ली जाने की योजना बना रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जाए कि वे मंत्रिमंडल में बने रहें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading