अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक: येडियुरप्पा कैबिनेट में सात मंत्री आज करेंगे शपथ ग्रहण, एक सीट रखी जाएगी खाली

पिछले शनिवार को येडियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) नई दिल्ली में आए थे. इस दौरान उनके दिल्‍ली आने को लेकर बेंगलुरु में कई तरह की अफवाहें शुरू हो गईं, लेकिन वह दिल्‍ली से विजयी होकर लौटे.
पिछले शनिवार को येडियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) नई दिल्ली में आए थे. इस दौरान उनके दिल्‍ली आने को लेकर बेंगलुरु में कई तरह की अफवाहें शुरू हो गईं, लेकिन वह दिल्‍ली से विजयी होकर लौटे.

पिछले शनिवार को येडियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) नई दिल्ली में आए थे. इस दौरान उनके दिल्‍ली आने को लेकर बेंगलुरु में कई तरह की अफवाहें शुरू हो गईं, लेकिन वह दिल्‍ली से विजयी होकर लौटे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2021, 3:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्नाटक (Karnataka) के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) बुधवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करने जा रहे हैं. उनके अनुसार बुधवार शाम को करीब 7 नए चेहरे मंत्री पद की शपथ ग्रहण करेंगे हैं. येडियुरप्पा ने इसके साथ ही आबकारी मंत्री एच नागेश से मंत्रालय का कार्यभार वापस लिए जाने का संकेत देते हुए बुधवार को कहा कि एक सीट खाली रखी जाएगी.

येडियुरप्पा ने कहा, 'आज शपथ ग्रहण करने वाले सात मंत्रियों की सूची राजभवन को भेज दी गई है. उनके नाम हैं- उमेश कट्टी, अरविंद लिम्बावली, एमटीबी नागराज, मुरुगेश निरानी, आर शंकर, सी पी योगेश्वर और एस अंगारा.'

मुख्यमंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा कि अन्य मसलों पर यहां आ रहे पार्टी के केंद्रीय नेताओं के साथ विचार-विमर्श किया जाएगा. उन्होंने कहा, 'हमने एक पद रिक्त रखा है और नागेश से मैं विचार-विमर्श करूंगा और उन्हें समझाने की कोशिश करूंगा.' इस समय मंत्रिमंडल में 27 सदस्य हैं और सात सीटें खाली हैं.









सरकार के मंत्रिमंडल के विस्तार से राज्य में 18 महीने पुरानी येडियुरप्पा सरकार की स्थिरता के बारे में सभी अटकलों पर विराम लग जाएगा. पिछले एक साल में येडियुरप्पा को उनकी बढ़ती उम्र और अन्य कारणों से हटाए जाने के बारे में कई अफवाहें सामने आ चुकी हैं. बीजेपी के आलाकमान ने उन्हें मंत्रिमंडल में अधिक मंत्रियों को शामिल करने की अनुमति दी, क्योंकि उनके नेतृत्व में विश्वास की कमी की कई शिकायतें आ रही थीं. उन्हें आगे बढ़ाने के लिए मनाकर बीएस येडियुरप्पा ने पार्टी के अंदर एक जंग जीत ली. वह एक बार फिर मजबूत होकर उभर रहे हें.

पिछले शनिवार को येडियुरप्पा नई दिल्ली में आए थे. इस दौरान उनके नई दिल्‍ली आने को लेकर बेंगलुरु में कई तरह की अफवाहें शुरू हो गईं. लेकिन वह दिल्‍ली से विजयी होकर लौटे. अपने मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए पार्टी नेतृत्‍व की स्वीकृति प्राप्त करते हुए. इस प्रकार उन्‍होंने फिर अपनी स्थिति को मजबूत किया.

सूत्रों के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और पार्टी के कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह के साथ बैठक के दौरान मुख्यमंत्री येडियुरप्पा ने उन्हें मंत्रिमंडल विस्तार की आवश्यकता के बारे में बताया. वे रिक्तियों को भरने के लिए सहमत हो गए और येदियुरप्‍प को शीर्ष नेतृत्‍व ने सलाह दी कि वह अपनी सरकार को लोकप्रिय बनाने के लिए राज्य में कुछ बड़ी पहलें शुरू करें. नई दिल्ली में पार्टी के सूत्र ने कहा, 'येडियुरप्पा को हटाना बहुत मुश्किल है. पार्टी आलाकमान इस बारे में नहीं सोच रहा है. ये सिर्फ अफवाहें हैं. वह अभी सुरक्षित हैं. मंत्रिमंडल का विस्तार एक स्पष्ट संकेत है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज