अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक: एक साल से लटका है कैबिनेट विस्‍तार, अमित शाह से मिलने के बाद येडियुरप्‍पा फिर बोले- फेरबदल जल्द

येडियुरप्पा ने कहा कि वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से भी मुलाकात करने का प्रयास करेंगे.(फाइल फोटो)
येडियुरप्पा ने कहा कि वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से भी मुलाकात करने का प्रयास करेंगे.(फाइल फोटो)

Karnataka: मुख्यमंत्री बी.एस. येडियुरप्‍पा (CM BS Yediyurappa) ने कहा, "शीर्ष नेतृत्व को मैंने ग्राम पंचायत चुनाव परिणामों के बारे में विस्तार से बताया. साथ ही कैबिनेट विस्तार के बारे में भी गहन चर्चा हुई. संभावना है कि जल्द ही सभी नामों पर मुहर लग जाएगी.''

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2021, 6:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येडियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) ने रविवार को दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से उनके आवास पर मुलाकात की. इस दौरान येडियुरप्पा के साथ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और कर्नाटक के इंचार्ज अरुण सिंह मौजूद रहे. मुलाकात के बाद येडियुरप्पा ने कहा, "शीर्ष नेतृत्व को मैंने ग्राम पंचायत चुनाव परिणामों के बारे में विस्तार से बताया. साथ ही कैबिनेट विस्तार के बारे में भी गहन चर्चा हुई. संभावना है कि जल्द ही सभी नामों पर मुहर लग जाएगी.'' कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि 100 प्रतिशत पक्का है कि ये आखिरी मीटिंग है और पार्टी नेतृत्व जल्द ही सभी नामों पर मुहर लगा देगा. येडियुरप्‍पा ने कहा कि कर्नाटक मंत्रिमंडल में फेरबदल जल्द होगा.

इससे पहले दिल्ली पहुंचने पर उन्होंने कहा, ‘‘हाल ही में हमने ग्राम पंचायत चुनाव में बड़ी जीत हासिल की. एक महीने के भीतर हम संसदीय उपचुनाव और विधानसभा उपचुनाव का सामना करने जा रहे हैं. हमें उम्मीदवार तय करने हैं. हम इन सभी मुद्दों पर अमित शाह और अन्य प्रमुख नेताओं के साथ चर्चा करेंगे.’’

राज्य में कोविड-19 के प्रसार पर रोक के लिए उठाए गए कदमों के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘कर्नाटक में कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में है. हम पूरी सावधानी बरत रहे हैं.’’ इससे पहले बेंगलुरु हवाई अड्डा से रवाना होने से पहले उन्होंने संकेत दिया था कि पार्टी आलाकमान के साथ उनकी चर्चा के दौरान कैबिनेट विस्तार का मुद्दा भी आ सकता है.



हवाई अड्डे पर यह पूछने पर कि क्या कैबिनेट फेरबदल इस सप्ताह होने की संभावना है तो उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता. मैं सभी मुद्दों पर चर्चा करूंगा.’’ राज्य में कैबिनेट विस्तार लगभग एक वर्ष से चर्चाओं में हैं, लेकिन यह हो नहीं रहा है, इससे मंत्रिपद के आकांक्षियों में उत्सुकता बढ़ने के साथ ही उनमें असंतोष भी पनप रहा है. मंत्री पद की दौड़ में विधायक उमेश कट्टी, मुनिरत्न, बासनगौड़ा पाटिल यतनल, एम पी रेणुकाचार्य, अरविंद लिंबावली और एस आर विश्वनाथ शामिल हैं.
तीन एमएलसी - सीपी योगेश्वर, एमटीबी नागराज और आर शंकर भी मंत्री पद की आकांक्षा रखते हैं. एक अन्य एमएलसी एएच विश्वनाथ भी इस दौड़ में थे, लेकिन उनकी उम्मीदें तब धराशायी हो गईं जब 30 नवंबर को कर्नाटक उच्च न्यायालय ने इस साल कम से कम मई तक उनके मंत्री बनने पर रोक लगा दी. राज्य में कुल 34 मंत्री हो सकते हैं और वर्तमान में 27 मंत्री हैं. मास्की और बसावकल्याण विधानसभा क्षेत्रों और बेलगावी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए उपचुनाव होने हैं.

2019 में कांग्रेस विधायक प्रताप गौड़ा पाटिल के इस्तीफे के कारण मास्की सीट खाली हुई थी, जबकि बी नारायण राव और सुरेश अंगड़ी की मृत्यु के कारण बसावकल्याण और बेलगावी सीटों पर उपचुनाव कराना जरूरी हो गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं पार्टी हाईकमान के साथ अन्य सभी मुद्दों पर चर्चा करूंगा और रात्रि में वापस लौटूंगा.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज